युवती लेकर भागने और ऐशो आराम से कर्जे में आए युवक ने की वृद्धा की हत्या

The young man, who ran away with the girl and got into debt with ease, killed the old woman
Share

प्रात:काल संवाददाता
उदयपुर। जिले के गोगुन्दा थाना क्षैत्र में घर में अकेली रह रही वृद्धा की नृशंस हत्या कर जेवरात लूटने वाले आरोपी को पुलिस ने अहमदाबाद से गिरफ्तार कर लिया। आरोपी एक युवती को लेकर भागने और ऐशों आराम के चलते कर्जे में डूब गया था और वृद्धा को अकेला देखकर लूटपाट करने की नीयत से गया और हत्या कर जेवरात लूटकर फरार हो गया। एएसपी मुख्यालय कुंदन कंवारियां ने बताया कि गोगुन्दा थाना क्षैत्र में गत 8 अगस्त को भग्गू बाई (75) पत्नी भंवरलाल सुथार निवासी मजावद की हत्या कर दी थी।
हत्यारों ने मृतका के शरीर पर पहने और घर में रखे जेवरात लूट ले गए थे। इस पर डिप्टी गिर्वा भूपेन्द्रसिंह के निर्देशन में गोगुन्दा थानाधिकारी दलपतसिंह राठौड़ के नेतृत्व में एएसआई रणजीतसिंह, हरिसिंह, हेड कांस्टेबल वरदीसिंह, विजेश कुमार, कांस्टेबल सवलाराम, ओमप्रकाश, महिला कांस्टेबल विरमा, परमार सैनी की टीम ने आरोपी की तलाश की। तलाश के दौरान ही सामने आया कि हत्या के बाद से ही एक आरोपी गांव से गायब है, जिस पर पुलिस ने आरोपी की तलाश शुरू की। पुलिस ने साइबर सेल की सहायता से आरोपी का पता लगाया और अहमदाबाद में दबिश देकर मुकेश पुत्र रतनलाल सुथार निवासी मजावद गोगुन्दा को पकड़ा। पूछताछ में आरोपी ने वृद्धा की हत्या करना स्वीकार कर लिया।
पुलिस ने आरोपी के कब्जे से लूटे हुए जेवरात बरामद कर लिये। इसे अदालत में पेश किया जहां उसे तीन दिन के रिमांड पर रखने के आदेश दिये। रिमांड अवधि के दौरान आरोपी से लूटे हुए चांदी के कड़े के बारे में पूछताछ व घटनास्थल की तस्दीक की जाएगी।
एशो आराम के चलते डूब गया था कर्जे में
एएसपी कुंदन कवारिया ने बताया कि आरोपी मुकेश खाने-पीने और ऐशा-आराम से जीने का शौकीन था। इसी कारण यह पिछले काफी समय से आर्थिक तंगी से गुजर रहा था। इसी कारण से जमीन गिरवी रखकर दो लाख रुपये किसी को दिए थे तथा महंगे शौक, मौज शौक मस्ती के चलते एक बुलट बाइक भी किश्तों पर ली थी।
अपने शौक के चलते इस बुलट को भी चालीस हजार में गिरवी रखी थी वह राशि भी मौज शौक में उड़ा दी। शान-शौकत और जीवन शैली को बरकरार रखने के लिए वृद्धा की हत्या को अंजाम दिया। आरोपी के पास काम धंधा नहीं है था और केवल खेती करता था।
लडक़ी लेकर भागा था, जिससे हुआ कर्जा
पुलिस के अनुसार आरोपी मुकेश कुछ समय पूर्व गांव से ही एक दूसरे समाज की युवती को लेकर भाग गया था, जिस पर गांव वाले उसे पकडक़र लाए थे। इस दौरान हुई पंचायती में इसने 2 लाख रूपए देना तय किया था इसी कारण इसने अपना खेत गिरवी रखा था।
अहमदाबाद में कर चुका है काम
पुलिस के अनुसार आरोपी मुकेश सुथार पूर्व अहमदाबाद में फर्नीचर का काम कर चुका है और करीब एक साल तक वहां पर रहा था। वहां से पुन: गांव आ गया और अभी एक माह से हाईवे पर स्थित होटल पर खाना बनाने का काम कर रहा था। हत्या के बाद जिस होटल में आरोपी रूका था उसके रजिस्टर में भी आरोपी ने गोगुन्दा से आना और अहमदाबाद जाना बताया था। गोगुन्दा में ज्वैलरी बेचने का प्रयास
पुलिस के अनुसार हत्या के बाद आरोपी मुकेश बस में बैठकर गोगुन्दा पहुंचा और बस स्टेण्ड पर उतरकर दुकान से एक नई ड्रेस खरीदी और ज्वेलरी की दुकान पर गया और जेवर बेचने का प्रयास किया, लेकिन दुकानदार ने जेवर लेने से मना कर दिया। फिर मुकेश अपने पहचान के दो लडक़ों के साथ उदयपुर आया और सुखेर बाइपास पर एक रात होटल में रूका और अगली सुबह बस में बैठकर अहमदाबाद निकल गया। वृद्धा चिल्लाई तो उसी की ओढनी से गला घोंटा
थानाधिकारी दलपतसिंह ने बताया कि आरोपी मुकेश सुथार को पता था कि वृद्धा भग्गू बाईक अपने घर में अकेली रहती थी और उसके पास जेवरात हो सकते है जिनसे वह लाखों रूपए प्राप्त कर सकता है। 8 अगस्त को आरोपी मुकेश सुथार सुबह मुंह पर कपड़ा बांधकर खेतों से होकर भगुबाई के घर पहुंचा और यह भी नजर रखी की कोई उसे देख नहीं ले। वृद्धा गेहूँ पिसा कर आई थी और जैसे ही वृद्धा घर में आई तो आरोपी ने वृद्धा पर हमला कर दिया और कान में पहनी टोटियां खींची तो वृद्धा चिल्लाई, इस पर उसने ओढऩी से उसका गला घोट दिया और घर में रखी कुदाली से सिर व ललाट पर दो वार किये जिससे वृद्धा की मौत हो गई। उसने उसके दोनों कानों से टोटियां, पैर से चांदी के कड़े, घर में रखे बक्से में से सोने की दो बालियां, एक हजार रुपये नकद लेकर फरार हो गया।


Share