पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर मोदी और हाथ में राम मंदिर लिए योगी…- प्र.म. मोदी को योगी आदित्यनाथ ने राम मंदिर की प्रतिकृति भेंट की

लोहिया का जिक्र करते हुए मोदी का अखिलेश पर बड़ा हमला- 'इनकी पहचान समाजवादी नहीं परिवारवादी की'
Share

सुलतानपुर (एजेंसी)। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले पक्ष-विपक्ष में उपलब्धियों का श्रेय लेने और कमियों का ठीकरा दूसरे के माथे फोडऩे का सिलसिला जोर पकड़ चुका है। इस बीच योगी आदित्यनाथ सरकार 341 किमी लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के जरिए प्रदेश के मतदाताओं के बड़े हिस्से का दिल जीतने को लेकर काफी आशान्वित है। भाजपा 2017 विधानसभा चुनाव का प्रदर्शन दोहराने की उम्मीद में है और इस उम्मीद को पुख्ता करने के लिए हर वो फंडे अपना रही है जिससे मतदाताओं पर उसकी पकड़ कमजोर नहीं पड़े। ऐसे में प्रतीकों का भी सहारा लिया जा रहा है।

राम मंदिर की प्रतिकृति में कुछ छिपा है?

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उद्घाटन समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत राम मंदिर की प्रतिकृति सौंपकर किया। सुलतानपुर के करवल खेड़ी का यह दृश्य मतदाताओं को एक संदेश दिए जाने के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण माना जा सकता है। इससे समझा जा सकता है कि चुनाव प्रचार में भाजपा एक तरफ विकास की बात करेगी तो दूसरी तरफ धर्म के मुद्दे पर भी खुलकर खेलेगी। दरअसल, उत्तर प्रदेश की योगी सरकार हो या फिर केंद्र की मोदी सरकार, दोनों अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण को चुनावी मुद्दा बनाकर ज्यादा से ज्यादा फायदा बटोरने की कोशिश में है।


Share