यासीन मलिक ने किया था अपहरण, पूर्व मुख्यमंत्री की बेटी रूबिया सईद ने की पहचान

यासीन मलिक ने किया था अपहरण, पूर्व मुख्यमंत्री की बेटी रूबिया सईद ने की पहचान
Share

जम्मू (एजेंसी)। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद की बेटी रूबैया सईद शुक्रवार को स्पेशल सीबीआई कोर्ट के सामने पेश हुई। अधिकारियों ने कहा कि अदालत में शुक्रवार को रूबैया सईद ने 1989 के अपहरण से संबंधित एक मामले में जेकेएलएफ प्रमुख यासीन मलिक और तीन अन्य की पहचान की। यह पहली बार है जब रूबैया सईद को मामले में पेश होने के लिए कहा गया है। दरअसल उस अपहरण कांड में रूबैया को पांच आतंकवादियों को रिहा करने के बाद उन्हें मुक्त कर दिया गया था।

सीबीआई वकील मोनिका कोहली ने बताया कि 1989 अपहरण के मामले में गवाह रूबैया सईद, जो कि पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती की बहन हैं, का बयान अदालत में दर्ज किया गया। इस दौरान उन्होंने यासीन मलिक को पहचान लिया है। मामले में सुनवाई की अगली तारीख 23 अगस्त है। रूबैया ने कुल 4 आरोपियों की पहचान की है। रूबैया सईद के वकील अनिल सेठी ने बताया कि हां, वह (रूबैया सईद) सीबीआई जांच के दौरान उन्हें उपलब्ध कराई गई तस्वीरों के आधार पर सभी की पहचान करने में सक्षम है। अनिल सेठी ने कहा कि उन्हें अगली सुनवाई में आने के लिए कहा गया है। यासीन मलिक कह रहा था कि उसे जिरह के लिए व्यक्तिगत रूप से जम्मू लाया जाए। रूबैया सईद, जो कि इस समय तमिलनाडु में रहती हैं। सीबीआई की ओर से अभियोजन पक्ष के गवाह के रूप में रबैया सईद लिस्टेड हैं। सीबीआई ने 1990 की शुरूआत में मामले की जांच अपने हाथ में ले ली थी। प्रतिबंधित जेकेएलएफ के प्रमुख यासीन मलिक इस मामले में मुख्य आरोपी हैं। उन्हें हाल ही में एक आतंकी फंडिंग मामले में आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी।


Share