आस और उम्मीद के सहारे पायलट गुट- चिंतन शिविर के बाद राजस्थान की सियासत में बदलाव के आसार

आस और उम्मीद के सहारे पायलट गुट
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 से राजस्थान कांग्रेस कमेटी फेरदबदल के संकेत मिल रहे हैं। पायलट गुट को आस है कि कांग्रेस के राष्ट्रीय चिंतन शिविर में सचिन पायलट को बड़ी जिम्मेदारी देने पर मुहर लग सकती है। चर्चा है कि सचिन पायलट को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद बनाया जा सकता है। पायलट गुट ने कांग्रेस आलाकमान सोनिया गांधी तक मैसेज भी पहुंचा दिया है। सोमवार को पायलट की सोनिया गांधी से मुलाकात ऐन वक्त रद्द हो गई। पायलट सोमवार को नई दिल्ली में थे लेकिन सोनिया गांधी से मुलाकात नहीं हो पाई। 2020 मे बगावत करने के बाद सचिन पायलट बिना किसी पद के हैं। पायलट गुट के विधायक-मंत्री चाहते हैं कि उनके नेता को सम्मानजनक पद दिया जाए। पायलट गुट की उम्मीद कांग्रेस के राष्ट्रीय चिंतन शिविर से है जो उदयपुर में 13 से 15 मई तक होगा। शिविर के दौरान 6 प्रमुख प्रस्तावों पर चर्चा की जाएगी।

आर्थिक कमेटी में पायलट को जगह

चिंतन शिविर में कई प्रस्ताव पास किए जाएंगे। जिसमें राजनीतिक प्रस्तावों से लेकर इस समय देश में चल रहे विभिन्न विषयों को भी शामिल किया गया है। जिसके लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने वरिष्ठ नेताओं की छह कमेटी बनाई है। जिनका काम शिविर से पहले सभी विषयों पर प्रस्ताव तैयार करना होगा। इन प्रस्तावों को चिंतन शिविर के दौरान चर्चा के लिए पेश किया जाएगा। इन 6 में से आर्थिक कमेटी में राजस्थान से सचिन पायलट को शामिल किया गया है।


Share