क्या ‘आक्रामक’ नाना पटोले महाराष्ट्र कांग्रेस में नई ऊर्जा फूंक पाएंगे?

क्या 'आक्रामक' नाना पटोले महाराष्ट्र कांग्रेस में नई ऊर्जा फूंक पाएंगे?
Share

मुंबई (कार्यालय संवाददाता)। महाराष्ट्र कांग्रेस की लीडरशिप में बड़ा परिवर्तन किया गया है। आक्रामक रणनीतिकार माने पार्टी नेता नाना पटोले को पार्टी की कमान सौंपी गई है। पटोले के साथ ही छह नेताओं को कार्यकारी अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई है। शिवाजी राव मोगे, बासवराज पाटिल, मोहम्मद आरिफ नसीम खान, कुणाल रोहिदास पाटिल, चंद्रकांत हंडोरे और प्रणति शिंदे को कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया है। इनके साथ ही 10 उपाध्यक्ष नियुक्त किए गए हैं। संसदीय बोर्ड और आगामी निकाय चुनावों के लिए रणनीति, स्क्रीनिंग एवं समन्वय समिति का गठन भी किया गया है। कहा जा रहा है कि नाना पटोले की अगुवाई वाली टीम राज्य कांग्रेस में ऊर्जा फूंकने का काम करेगी।

नई टीम से मनोबल पर फर्क पड़ेगा

पार्टी के वरिष्ठ नेता मोहन जोशी का कहना है कि नए नेतृत्व के साथ पूरे राज्य में कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं के मनोबल पर फर्क पड़ेगा। दरअसल 2018 में विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के कई बड़े नेताओं ने पार्टी छोड़ दी थी। हालांकि चुनाव बाद नया राजनीतिक गठजोड़ बना जिसमें कांग्रेस सत्ताधारी गठबंधन का हिस्सा बन गई। इसके बाद से पार्टी संगठन को मजबूत करने की बातें होती रही हैं। नाना पटोले को राज्य की कमान दिए जाने की बात काफी पहले से चर्चा में थी लेकिन इस पर निर्णय लेने में वक्त लिया गया।

स्थानीय चुनाव में होगा टेस्ट

अब नई टीम के सामने सबसे पहले पुणे और पिंपरी-छिछवाड़ मुनिसिपिल कॉरपोरेशन के चुनाव हैं। इसके अलावा पुणे, खाडकी और देहू कैंटोनमेंट बोर्ड्स के चुनाव भी इसी वर्ष होने हैं। ये चुनाव वैसे तो स्थानीय हैं लेकिन इसमें नए नेतृत्व की परीक्षा भी होगी। हालांकि नाना पटोले पर कांग्रेस टॉप लीडरशिप ने भरोसा भी इसलिए जताया है क्योंकि वो अपनी जबरदस्त सांगठनकि क्षमता के लिए जाने जाते हैं।


Share