‘जहां बीमार, वहीं उपचार’- कोरोना पर PM मोदी ने दिया नया मंत्र

'Put Modi first, then I will also ...'
New Delhi, May 07 (ANI): Prime Minister Narendra Modi gives speech on Buddha Purnima via video conference, in New Delhi on Thursday. (ANI Photo)
Share

वाराणसी (एजेंसी)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को संबोधित किया। प्र.म. ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में वाराणसी के लोगों की तारीफ की। इस दौरान वे कई बार बोलते-बोलते रूके और भावुक दिखाई दिए। प्र.म. ने संबोधन में देश को कोरोना से लडऩे के लिए नया मंत्र भी दिया। उन्होंने कहा, अब ‘जहां बीमार, वहीं उपचारÓ के लक्ष्य के साथ स्वास्थ्य व्यवस्थाएं मुहैया होनी चाहिए। इस सिद्धांत पर माइक्रो-कंटेनमेंट जोन बनाकर जिस तरह आप शहर एवं गावों में घर घर दवाएं बांट रहे हैं, ये बहुत अच्छी पहल है। इस अभियान को ग्रामीण इलाकों में जितना हो सके, उतना व्यापक करना है।

मोदी ने कहा, मैं काशी का एक सेवक होने के नाते हर एक काशीवासी का हृदय से धन्यवाद देता हूं। विशेष रूप से हमारे डॉक्टर्स, नर्सेज, वार्ड बॉयज और एम्बुलेंस ड्राइवर्स ने जो काम किया है, वो वाकई सराहनीय है। प्र.म. ने कहा कि जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों और सुरक्षाबलों ने सराहनीय काम किया। काशी के डॉक्टर्स ने कल्याण की भावाना से कोरोना काल में काम किया। इस वायरस ने हमारे कई अपनों को हमसे छीना है। मैं उन सभी लोगों को अपनी श्रद्धांजलि देता हूं, उनके परिजनों के प्रति सांत्वना व्यक्त करता हूं। मोदी ने आगे कहा, कोरोना की दूसरी लहर में हमें कई मोर्चों पर एक साथ लडऩा पड़ रहा है। इस बार संक्रमण दर पहले से कई गुना ज्यादा है और मरीजों को ज्यादा दिनों तक अस्पताल में भर्ती रहना पड़ रहा है। इन सबसे हमारे हेल्थ सिस्टम पर एक साथ बहुत बड़ा दबाव पैदा हो गया है। उन्होंने कोरोना के खिलाफ लड़ाई के साथ वैक्सीन लगवाने को भी सामूहिक अभियान करार देते हुए कहा कि जल्द ही बाबा विश्वनाथ के आशीर्वाद से काशी यह लड़ाई जीतेगी।

‘यह समय संतोष का नहीं, लंबी लड़ाई लडऩी है’

प्र.म. मोदी ने स्वास्थ्यकर्मियों का शुक्रिया अदा करते हुए कहा आपके तप से, और हम सबके साझा प्रयासों से महामारी के इस हमले को आपने काफी हद तक संभाला है। लेकिन अभी संतोष का समय नहीं है, हमें अभी एक लंबी लड़ाई लडऩी है। अभी हमें बनारस और पूर्वांचल के ग्रामीण इलाकों पर भी बहुत ध्यान देना है। कोविड के खिलाफ गांवों में चल रही लड़ाई में आशा और एएनएम बहनों की भी भूमिका बहुत अहम है। मैं चाहूंगा कि इनकी क्षमता और अनुभव का भी ज्यादा से ज्यादा लाभ लिया जाए।

‘जल्द हर किसी तक पहुंचेगा वैक्सीन का सुरक्षा कवच’

मोदी ने वैक्सीन का महत्व बताते हुए कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में हमने वैक्सीन की सुरक्षा को भी देखा है। वैक्सीन की सुरक्षा के चलते काफी हद तक हमारे फ्रंट लाइन वर्कर्स सुरक्षित रहकर लोगों की सेवा कर पाए हैं। यही सुरक्षा कवच आने वाले समय में हर व्यक्ति तक पहुंचेगा। उन्होंने कहा, दूसरी लहर के दौरान प्रशासन ने जो तैयारियां की हैं, उन्हें केस घटने के बाद भी हमें ऐसे ही चुस्त दुरूस्त रखना ही है। साथ ही लगातार आंकड़ों और स्थितियों पर भी नजर रखनी है।


Share