आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन क्या है- इससे आप कैसे लाभान्वित होंगे: सब कुछ जानें

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन क्या है- इससे आप कैसे लाभान्वित होंगे: सब कुछ जानें
Share

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन क्या है- इससे आप कैसे लाभान्वित होंगे: सब कुछ जानें- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन की शुरुआत की। प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले साल 15 अगस्त को लाल किले से अपने भाषण में आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के पायलट प्रोजेक्ट की घोषणा की थी। आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (NHA) द्वारा आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (AB PM-JAY) की तीसरी वर्षगांठ के अवसर पर राष्ट्रीय स्तर पर लॉन्च किया ।

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन क्या है?

केंद्र सरकार ने ‘डिजिटल इंडिया’ योजना के तहत राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन शुरू किया है।  इस अभियान का उद्देश्य स्वास्थ्य क्षेत्र में जागरूकता पैदा करना और उन्हें स्वास्थ्य अभियान से जोड़ना है।  साथ ही देश के हर व्यक्ति को बेहतर स्वास्थ्य देखभाल मुहैया करानी होगी। सरकार इसके लिए टेक्नोलॉजी का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करना चाहती है।

यूनिक हेल्थ कार्ड का लाभ कैसे उठाएं?

यूनिक हेल्थ आईडी के तहत सरकार हर व्यक्ति के स्वास्थ्य का डेटाबेस बनाएगी। इस आईडी से व्यक्ति का मेडिकल रिकॉर्ड दर्ज किया जाएगा। सरकार डेटाबेस से किसी व्यक्ति की वित्तीय स्थिति के बारे में जान पाएगी और उसीआधार पर सब्सिडी का लाभ देगी।

स्वास्थ्य कार्ड में क्या शामिल है?

सबसे पहले जिस व्यक्ति की आईडी जनरेट होगी उसका मोबाइल नंबर और आधार नंबर लिया जाएगा।  इन दोनों एंट्री की मदद से एक यूनिक हेल्थ कार्ड बनाया जाएगा।  जिस व्यक्ति का स्वास्थ्य पहचान पत्र बनाया जाना है, उसका स्वास्थ्य रिकॉर्ड एकत्र करने की अनुमति स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा दी जाएगी।  सार्वजनिक अस्पतालों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों या आप https://healthid.ndhm.gov.in/register पर अपनी खुद की प्रविष्टियां दर्ज करके अपना स्वास्थ्य आईडी बना सकते हैं।

प्रधानमंत्री द्वारा इस मिशन के लिए बताई गई कुछ खास बातें इस प्रकार हैं –

* आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन अब देश भर के अस्पतालों को डिजिटल हेल्थकेयर समाधानों से जोड़ेगा। इसके तहत देशवासियों को अब डिजिटल हेल्थ आईडी मिलेगी। प्रत्येक नागरिक के स्वास्थ्य रिकॉर्ड को डिजिटल रूप से संरक्षित किया जाएगा।  देश के सभी अस्पतालों, औषधालयों, प्रयोगशालाओं, दवा भंडारों का भी पंजीकरण होगा।

* देश में निवारक स्वास्थ्य देखभाल पर ध्यान केंद्रित करने वाला एक मॉडल विकसित किया जाएगा।  मरीजों को आसान और किफायती दरों पर इलाज मिलेगा।  डिजिटल हेल्थ आईडी के जरिए मरीज खुद और डॉक्टर जरूरत पड़ने पर पुराने रिकॉर्ड भी चेक कर सकते हैं।  इसमें डॉक्टर, नर्स, पैरा-मेडिक जैसे साथियों का भी रिकॉर्ड रहेगा।

* भारत के स्वास्थ्य क्षेत्र के विकास के बारे में उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य क्षेत्र को बदलने के लिए चिकित्सा शिक्षा में अभूतपूर्व सुधार किए जा रहे हैं।  देश में आज 7-8 साल की तुलना में ज्यादा डॉक्टर और पैरामेडिकल मैनपावर सृजित किए जा रहे हैं।

*गरीब और मध्यम वर्ग को बेहतर चिकित्सा देखभाल के साथ-साथ दवाओं पर कम खर्च करने की जरूरत है।  इसलिए केंद्र सरकार ने सर्जरी, डायलिसिस और सस्ती चीजों जैसी जरूरी दवाएं जैसी कई सेवाएं अपने पास रखी हैं।

*आयुष्मान भारत योजना के तहत अब तक लाखों लोगों का इलाज हो चुका है, या जिनका अभी इलाज चल रहा है, जो इस योजना से पहले अस्पताल जाने की हिम्मत नहीं कर पाए।

*आयुष्मान भारत पीएम जय ने गरीबों के जीवन की बड़ी चिंता को दूर किया है।  इस योजना के तहत अब तक 2 करोड़ से अधिक लोगों ने मुफ्त इलाज का लाभ उठाया है।

* कोरोना काल में टेलीमेडिसिन का भी अभूतपूर्व विस्तार हुआ है।  ई-संजीवनी के माध्यम से अब तक लगभग 125 करोड़ दूरस्थ परामर्श पूरे किए जा चुके हैं।  नतीजा यह है कि देश के सुदूर इलाकों में रहने वाले हजारों देशवासियों को घर बैठे शहरों के बड़े अस्पतालों के डॉक्टरों से जोड़ा जा रहा है.

*मुफ्त टीकाकरण अभियान के तहत अब तक 90 करोड़ नागरिकों का टीकाकरण किया जा चुका है।  इसके लिए कोविन ऐप का प्रभावी ढंग से इस्तेमाल किया गया।

* 130 करोड़ आधार नंबर, 118 करोड़ मोबाइल ग्राहक, लगभग 80 करोड़ इंटरनेट उपयोगकर्ता, लगभग 43 करोड़ जन धन बैंक खाते, दुनिया में कहीं भी इतना बड़ा कनेक्टेड सिस्टम नहीं है।  यह डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर भारतीय नागरिकों को तेज, पारदर्शी तरीके से सेवाएं प्रदान कर रहा है।

* मुझे खुशी है कि आज से देशभर में आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन भी शुरू हो रहा है।  यह मिशन देश में गरीब और मध्यम वर्ग के इलाज में अहम भूमिका निभाएगा।  देश में पिछले सात वर्षों में स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत करने का अभियान आज से एक नए चरण में प्रवेश कर रहा है।  आज से एक मिशन शुरू हो रहा है, जो भारत की स्वास्थ्य सुविधाओं में क्रांति लाने की ताकत रखता है।


Share