‘हम दो, हमारे दो सुन लें, कभी लागू नहीं होने देंगे सीएए’

'वन टू का फोर पॉलिटिक्स' से मोदी को घेरा
Share

गुवाहाटी (एजेंसी)। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने असम के शिवसागर में रविवार को आयोजित रैली में कहा कि दुनिया की कोई भी ताकत असम को तोड़ नहीं सकती है। इस दौरान, कांग्रेस नेता ने अपने गले में एक गमछा भी पहन रखा था, जिस पर सीएए लिखा हुआ था और उसे क्रॉस से कट किया गया था। उन्होंने दावा किया कि राज्य में किसी भी सूरत में सीएए को लागू नहीं होने देंगे। मालूम हो कि असम में कुछ महीनों के बाद विधानसभा चुनाव होने वाले हैं।

केरल के वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने कहा, दुनिया की कोई भी ताकत असम को नहीं तोड़ सकती है। जो भी असम समझौते को छूने या नफरत फैलाने की कोशिश करेगा, कांग्रेस पार्टी और असम के लोग उन्हें एक साथ सबक सिखाएंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने असम के लोगों को एकजुट किया है। इससे पहले हिंसा के चलते इस बात की कोई गारंटी नहीं हुआ करती थी कि कोई व्यक्ति जनसभा से घर वापस लौट पाएगा कि नहीं।

उन्होंने आगे कहा कि मैं और कांग्रेस के सभी कार्यकर्ता असम समझौते के सिद्धांतों की रक्षा करेंगे, हम इससे एक इंच भी पीछे नहीं हटेंगे। राहुल गांधी ने भाजपा, आरएसएस पर असम को बांटने की कोशिश करने का आरोप लगाया और कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह इससे प्रभावित नहीं होंगे, लेकिन असम और पूरा देश इससे प्रभावित होगा।

‘कभी लागू नहीं होने देंगे सीएए’

असम की रैली में गरजते हुए राहुल गांधी ने कहा कि हम दो, हमारे दो वाले सुन लें। हम कभी भी सीएए को लागू नहीं होने देंगे। उन्होंने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि उनका सिस्टम बहुत सरल है। असम में आग लगाओ, असम को बांटो और जो असम का है, उसे ले लो। एयरपोर्ट भी हम दो, हमारे दो को ही मिला। अभी तो सबकुछ ले लिया जाएगा, कुछ भी नहीं बचेगा। वे जानते हैं कि अगर यहां आग लगा दी और बांट दिया तो जो कुछ भी चाहते हैं लेना, वे ले सकेंगे। राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री पर आरोप लगाते हुए कहा कि प्र.म. मोदी ने कोविड-19 महामारी के दौरान लोगों का पैसा लूटा और अपने दो दोस्तों का कर्ज माफ कर दिया।


Share