जयपुर के हॉस्पिटल में ICU में वार्ड बॉय ने किया रेप; एक बार फिर से शर्मशार हुई राजधानी

19 फरवरी को झुंझनू में 5 साल की बच्ची से रेप
Share

जयपुर के हॉस्पिटल में ICU में वार्ड बॉय ने किया रेप; एक बार फिर से शर्मशार हुई राजधानी- ना पुलिस स्टेशन, ना मंदिर , ना ही अस्पताल आखिर ऐसी कौनसी जगह हैं जहां महिलाएं सुरक्षित हैं !! राजस्थान के जयपुर के एक निजी अस्पताल शाल्बी से एक महिला मरीज के बलात्कार की भयानक घटना सामने आई है। यह घटना राज्य की राजधानी के शाल्बी अस्पताल से सोमवार रात को सामने आई है।

बेहोशी की हालत में किया दुष्कर्म

आरोपी वार्ड ब्वॉय ने आईसीयू में भर्ती महिला मरीज से 6 से 7 बार अलग-अलग तरीके से छेड़छाड़ की। पीड़िता की सर्जरी हुई थी और बाद में उसे आईसीयू में स्थानांतरित कर दिया गया था।

पीड़िता के मुंह पर मास्क था और उसके हाथ बंधे हुए थे। घटना के बाद महिला पूरी रात रोती रही। रिपोर्ट के अनुसार, जब महिला ने एक नर्स को घटना के बारे में बताने की कोशिश की, तो आरोपी ने उसे धमकी देकर चुप करा दिया।

बाद में, पीड़िता ने सुबह अपने पति को अपनी आपबीती सुनाई। महिला के पति ने कहा कि बीमार होने के बाद उसे शाल्बी अस्पताल ले जाया गया।  बाद में, उसका ऑपरेशन किया गया। अस्पताल के कर्मचारियों द्वारा महिला के पति को बताया गया कि वह मरीज के साथ नहीं रह सकते । पति फिर घर लौट आया। जब वह सुबह लौटा, तो महिला ने रोते हुए उसे लिखित में अपनी आपबीती सुनाई क्योंकि वह बोल नहीं पा रही थी।

आरोपी वार्डबॉय खुशीराम हिरासत में 

इस बीच, पुलिस ने कहा कि वे मामले की जांच कर रहे हैं और सीसीटीवी फुटेज को स्कैन कर रहे हैं।  “यह घटना बहुत गंभीर है। महिला के पति ने चित्रकूट पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कराया। पुलिस ने ड्यूटी रोस्टर और सीसीटीवी फुटेज को कब्जे में लेकर आरोपी की पहचान करने के लिए जांच शुरू कर दी है। आरोपी आगरा रोड पर रहता है। हमने गिरफ्तार कर लिया है।  आरोपी और उससे पूछताछ कर रहे हैं, “डीसीपी प्रदीप मोहन शर्मा।

“अब तक, हमारी जांच से पता चला है कि आईसीयू में दो कमरे थे। जबकि एक महिला नर्स एक कमरे में मरीजों को देख रही थी, पुरुष नर्स दूसरे कमरे में मरीजों को देख रहा था। और इस बार आरोपी ने छेड़छाड़ की। हमने आरोपी को पकड़ लिया है। हम घटना में अन्य लोगों की संलिप्तता की तलाश के लिए सीसीटीवी देख रहे हैं। आरोपी की पहचान करोली जिले के नादोटी तहसील के निवासी खुशीराम गुर्जर के रूप में की गई है।”

आरोपी ने कबूल किया अपना जुर्म

आरोपी खुशीराम ने पुलिस हिरासत में बताया कि महिला के शरीर पर कोई वस्त्र न होने पर उसकी नियत बिगड़ गई और उसने महिला से 6 से 7 बार प्रताड़ित किया। फिलहाल के लिए ये दरिंदा न्यायिक हिरासत में हैं।

शाल्बी हॉस्पिटल कर रहा अपनी तरफ से जांच

शाल्बी हॉस्पिटल के संस्थापक ने कहा मामले की जांच महिला मरीज के केस दर्ज करने के बाद से जारी हैं। जल्द ही एक्शन लेंगे। हॉस्पिटल के अनुसार आरोपी खुशीराम 6 महीने से यहां काम कर रहा हैं जिसका काम एनेथेसिया दिए गए मरीजों की देखभाल करना है। उसका ड्यूटी समय रात्रि 8 बजे से सुबह 8 बजे तक हैं। घटना को उसने रात्रि में अंजाम दिया। हॉस्पिटल स्टाफ महिला के साथ हैं। तथा दोषी को सजा दिलाने में हर संभव कार्यवाही करने में पुलिस की मदद करेगा।


Share