विश्वमोहन भट्ट ने दी 59 रागों की रागमाला धुन की अनूठी प्रस्तुति, तीन दिवसीय 59 वां महाराणा कुंभा संगीत समारोह प्रारम्भ 

Vishwamohan Bhatt gave a unique presentation of Ragamala tune of 59 ragas
Share

उदयपुर (वि)। महाराणा कुंभा संगीत परिषद द्वारा तीन दिवसीय 59 वां महाराणा कुंभा संगीत समारोह शुक्रवार से भारतीय लोक कला मंडल में प्रारम्भ हुआ। प्रथम दिन की प्रथम प्रस्तुति के रूप में शास्त्रीय संगीत गायिका एवं फिल्म सुई धागा और अन्य कई फिल्मों में अपनी आवाज देने वाली मुंबई की गायिका रॉन्किनी गुप्ता ने अपने गायन की शुरूआत स्वरमण्डल वाद्ययंत्र पर राग विहाग से की तो श्रोता उनकी गायिकी से मंत्रमुग्ध हो कर उनकी गायकी में खो गये।  रॉन्किनी गुप्ता ने अपनी गायन प्रस्तुति से सभी का मन मोह लिया। उन्होंने राग बिहाग में विलम्बित ख्याल के बोल….कैसे सुख सोवे, मध्यलय ख्याल पनघटवा रोके एवं गगरी भरी है छलके जाये…, राग पूरिया धनाश्री में मध्यलय ख्याल बोल….पायलिया झनकार मोरी और अबीर गुलाल…. प्रस्तुत कर श्रोताओं को मन्त्रमुग्ध कर दिया। आलाप तानों का अनूठा प्रदर्शन उनकी गायकी में दिखाई दिया। स्वरमण्डल, हारमोनियम एवं तबले की जुगलबन्दी का श्रोताओं ने जमकर लुत्फ उठाया और इस पर तालियों की भरपूर दाद दी। रॉन्किनी के साथ हारमोनियम पर अभिनय रावान्डे और तबले पर आशीष रागवानी तानपुरे पर डॉ.सीमा जैन और डिम्पी सुहालका ने संगत की। मुख्य अतिथि के रुप में पुलिस महानिरीक्षक हिंगलाजदान, विशिष्ट अतिथि फिल्म निदेशक कृष्णकांत पंड्या, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश भारद्वाज, डॉ. क्षिप्रा भारद्वाज, ऑल इण्डिया रेडियो के कार्यक्रम प्रमुख महेन्द्रसिंह लालस, नाथद्वारा मन्दिर मण्डल के पूर्व प्रशासनिक अधिकारी दिनेश कोठारी सहित शहर के अनेक गणमान्य नागरिक मौजूद थे।


Share