श्रम दिवस के रूप में मनाई विश्वकर्मा जयंती

श्रम दिवस के रूप में मनाई विश्वकर्मा जयंती
Share

उदयपुर (वि.)। उदयपुर भारतीय मजदूर संघ ने भगवान विश्वकर्मा की जयंती मनाई। भारतीय मजदूर संघ जिला मंत्री प्रतीक सिंह राणावत ने कहा कि विश्वकर्मा श्रम के वैदिक देवता, आदी शिल्पी हैं। भारतीय मजदूर संघ 17 सितंबर विश्वकर्मा जयंती को राष्ट्रीय श्रमिक दिवस घोषित करने एवंं पूरे राष्ट्र में एक दिवसीय अवकाश की मांग करता है।

भारतीय मजदूर संघ जिले की तरफ से यह कार्यक्रम डिस्टलरी फैक्टरी में रखा गया जहां पर विश्कर्मा के चित्र पर माल्यार्पण कर पूजन किया। प्रदेश उपाध्यक्ष अमर सिंह सांखला ने बताया अनादि काल से भगवान विश्वकर्मा ने सदैव सृष्टि की रचना में निर्माण कार्य करते हुए सहयोग किया। प्रदेश संगठन मंत्री भवानी सिंह शक्तावत, जिला मंत्री प्रतीक सिंह राणावत, रोडवेज से सतनारायण शर्मा, अशोक मेहता, माइनिंग के प्रमोद कुंद्रा, जिला कोषाध्यक्ष डेनवाल, लिपि डाटा के मानसिंह डिस्टलरी के लोगर लाल उमराव सिंह, जावर माइंस के ओंकार मीणा, रमेश मीणा आदि ने संबोधित किया।

श्री विश्वकर्मा मेवाड़ा सुथार समाज उदयपुर द्वारा विश्वकर्मा पूजा दिवस पर शहर के मध्य स्थित विश्वकर्मा मंदिर में आराध्य देव की विशेष पूजा एवं आरती की गई । अवसर विशेष पर समाज मंदिर व्यवस्था मंडल द्वारा भगवान श्री विश्वकर्मा का विशेष श्रृंगार एवं औजारों की पूजा अर्चना करते हुए सामाजिक दूरी का पालन करते हुए भगवान श्री विश्वकर्मा की आराधना की गई एवं प्रसाद वितरण किया गया। मंदिर व्यवस्था मंडल एवं बैठक अध्यक्ष श्रीमान रमाकांत अजारिया ने बताया कि इस अवसर पर रोशन लाल गोपाल सुथार, नरेंद्र सुथार, शंकर लाल, तारा देवी, राजेन्द्र अंजारिया, यशवंत सुथार, किशन सुथार, पंकज गौतम एवं समस्त व्यवस्था मण्डल कार्यकारिणी सामाजिक दूरी का पालन करते हुए उपस्थित रही।


Share