टेस्ट में 11 साल पूरे होने पर विराट ने अनलॉक किया अपना लैपटॉप

टेस्ट में 11 साल पूरे होने पर विराट ने अनलॉक किया अपना लैपटॉप
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। आज ही के दिन 11 साल पहले 20 जून को विराट कोहली ने टेस्ट क्रिकेट में अपना पहला मैच खेला था। दाएं हाथ के बल्लेबाज कोहली ने ङ्क्षकगस्टन, जमैका में वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में टेस्ट डेब्यू किया था। आज इस मौके पर पूरे 11 साल बाद, कोहली ने अपने लैपटॉप को अनलॉक करके बेहद खास फोल्डर को सार्वजनिक रूप से ओपन किया और भारतीय बल्लेबाजी की यादों को साझा किया है। कोहली ने टेस्ट क्रिकेट में बहुत ही सफल कप्तानी थी।

टेस्ट में 11 साल पूरे करने के बाद, कोहली ने सोमवार को स्वदेशी सोशल मीडिया मंच कू ऐप पर एक वीडियो पोस्ट किया, जिसमें टेस्ट क्रिकेट के अपने सभी प्रमुख पल शामिल किए हैं।

33 वर्षीय कोहली ने अपने करियर में अब तक 101 टेस्ट खेले हैं, जिसमें उन्होंने 49.95 के औसत से 8043 रन बनाए हैं। इसमें उनका सर्वोच्च स्कोर नाबाद 254 रन रहा है। हालांकि, कोहली हाल में फॉर्म में गिरावट के दौर से गुजर रहे हैं।  उन्होंने आखिरी बार बांग्लादेश के खिलाफ कोलकाता के ईडन गार्डन्स में डे-नाइट टेस्ट में शतक बनाया था।

कोहली ने इस साल जनवरी में दक्षिण अफ्रीका में 1-2 से सीरीज हारने के बाद भारत के टेस्ट कप्तान के रूप में पद छोड़ दिया था। विराट 68 मैचों में 40 जीत के साथ भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान बने हुए हैं। वह केवल ग्रीम स्मिथ, एलन बॉर्डर, स्टीफन फ्लेङ्क्षमग, रिकी पोंङ्क्षटग और क्लाइव लॉयड के बाद टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में छठे सबसे सफल कप्तान हैं। अब कोहली इंग्लैंड के खिलाफ एकमात्र टेस्ट मैच में नजर आएंगे, जो एक से पांच जुलाई तक खेला जाएगा।

गांगुली-द्रविड़ ने भी आज ही किया था डेब्यू

पूर्व भारतीय कप्तान विराट कोहली के अलावा सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ ने भी आज ही के दिन टेस्ट डेब्यू किया था। सौरव और द्रविड़ ने 1996 में एक साथ टीम इंडिया के लिए डेब्यू किया था। वर्तमान में तीनों भारतीय क्रिकेट में अपना योगदान दे रहे हैं। विराट तीनों फॉर्मेट में भारत के लिए खेल रहे हैं। वहीं, सौरव गांगुली बीसीसीआई अध्यक्ष के तौर पर काम कर रहे हैं। जबकि राहुल द्रविड़ टीम के कोच की भूमिका में हैं।

सबसे ज्यादा मैच जिताने वाले कप्तान

विराट कोहली भारतीय टीम को सबसे ज्यादा टेस्ट जिताने वाले कप्तान हैं। कोहली की कप्तानी में भारत ने 68 में से 40 टेस्ट जीते हैं। वहीं, धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया को 60 में से 27 टेस्ट में जीत मिली है। गांगुली के नेतृत्व में टीम ने 21 टेस्ट जीते थे। विराट की कप्तानी में भारतीय टीम सबसे लंबे समय तक टेस्ट रैंकिंग में नंबर-1 रही है। टीम 42 महीनों तक टेस्ट के शिखर पर रही। विराट भारत के लिए सौ से ज्यादा टेस्ट मैच खेलने वाले 12वें भारतीय क्रिकेटर हैं। ओवरऑल बात करें तो उनसे पहले दुनिया के 71 खिलाड़ी इस उपलब्धि को हासिल कर सके हैं।

कोहली के बल्ले से 2019 के बाद से उनके बल्ले से टेस्ट शतक नहीं आया है। उन्होंने आखिरी बार शतक 23 नवंबर 2019 को बांग्लादेश के खिलाफ कोलकाता में लगाया था।


Share