131 दिन बाद विराट ने लगाई फिफ्टी, पिछले दो साल का सर्वोच्च स्कोर बना राहुल द्रविड़ को पछाड़ा

Virat scored fifty after 131 days, surpassed Rahul Dravid to become the highest score of the last two years
Share

केपटाउन (एजेंसी)।  भारतीय कप्तान विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट में अर्धशतक जमाया। वे 201 गेंदों पर 79 रन बनाकर आउट हुए। यह उनके टेस्ट करियर की 28वीं फिफ्टी रही। कोहली ने टेस्ट में यह अर्धशतक 131 दिन बाद लगाया था। पिछला अर्धशतक उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ दो सितंबर, 2021 को लगाया था। तब उन्होंने 50 रन की पारी खेली थी।

विराट ने अपने पारी के दौरान मौजूदा कोच और दिग्गज क्रिकेटर राहुल द्रविड़ के एक बड़े रिकॉर्ड को तोड़ दिया। वह अब दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट मैचों में सर्वाधिक रन बनाने वाले दूसरे भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं। उनसे आगे अब सिर्फ सचिन तेंदुलकर ही हैं जिन्होंने 15 मैचों में पांच शतक की मदद से 1161 रन बनाए थे। कोहली के नाम अब सात मैचों में दो शतक की मदद से 650 से अधिक रन दर्ज हो गए हैं। वहीं राहुल द्रविड़ ने 11 मैचों में एक शतक की मदद से 624 रन बनाए थे।

कोहली की पारी की बात करें तो अपने 99वें टेस्ट में उन्होंने बेहद धीमी लेकिन महत्वपूर्ण पारी खेली। उन्होंने अपने अर्धशतक के लिए 157 गेंदों का सामना किया। यह उनके टेस्ट करियर का अब दूसरा सबसे धीमी अर्धशतक हो गया है।

भारतीय कप्तान उस वक्त मैदान पर पहुंचे जब भारत ने 33 रन के स्कोर पर अपने दोनों सलामी बल्लेबाजों के विकेट गंवा दिए थे। हालांकि इसके बाद उन्होंने शानदार पारी खेलते हुए टीम को शुरुआती झटके से उबारा और चेतेश्वर पुजारा के साथ मिलकर 62 रनों की साझेदारी की। कोहली ने ऋषभ पंत के साथ मिलकर भी 51 रनों की अहम साझेदारी निभाई।

नवंबर 2019 से नहीं लगा पाए शतक

इसके बाद से टेस्ट में उनका व्यक्तिगत स्कोर कुछ इस प्रकार रहा है- 44, 0, 36, 35 और 18। हालांकि, विराट के शतकों का सूखा अब भी जारी है। वह नवंबर, 2019 के बाद से किसी भी फॉर्मेट में शतक नहीं लगा पाए हैं। पिछला शतक उन्होंने बांग्लादेश के खिलाफ कोलकाता के ईडन गार्डन्स में नवंबर 2019 में ही लगाया था। तब उन्होंने 136 रन की पारी खेली थी। तब से लेकर अब तक टेस्ट में 28 पारियों में वह शतक नहीं लगा पाए हैं। इस दौरान उन्होंने छह अर्धशतक जरूर लगाए हैं।

केपटाउन में शानदार बल्लेबाजी की

केपटाउन में विराट की पारी देखने लायक थी। उन्होंने शुरू से संभल कर खेलना शुरू किया और ऑफ स्टंप से बाहर जाती गेंदों से छेडख़ानी नहीं की। पिछले कुछ मैचों में वह ऑफ स्टंप के बाहर जाती गेंदों पर ही आउट हुए थे। खराब गेंदों पर विराट ने चौके भी जड़े। उन्होंने अपनी पारी में 12 चौके और एक छक्का भी लगाया। कोहली ने चेतेश्वर पुजारा और ऋषभ पंत के साथ दो महत्वपूर्ण साझेदारी भी निभाई।

पिछले दो साल की सर्वोच्च पारी

पुजारा के साथ कोहली ने तीसरे विकेट के लिए 153 गेंदों पर 62 रन और पंत के साथ पांचवें विकेट के लिए 113 गेंदों पर 51 रन की साझेदारी निभाई। इसके अलावा कोहली ने शार्दुल ठाकुर के साथ 30 गेंदों पर 30 रन की साझेदारी की। इसकी बदौलत टीम इंडिया 200 का स्कोर पार कर पाई। 79 रन की पारी कोहली का पिछले दो साल में सर्वोच्च स्कोर भी है। जनवरी 2020 के बाद से कोहली ने छह अर्धशतक लगाए हैं।


Share