‘विरोध प्रदर्शनों में नहीं होनी चाहिए हिंसा’

गहलोत का बड़ा सियासी बयान, कहा-  'सरकार गिराने में शेखावत-पायलट दोनों मिले हुए थे’
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सभी समुदायों के लोगों से शांति की अपील करते हुए  कहा है कि निष्कासित भाजपा प्रवक्ताओं की टिप्पणियों की जितनी निंदा की जाए वो कम है  परन्तु इसके विरोध में किए जा रहे प्रदर्शनों में हिंसा नहीं होनी चाहिए।

गहलोत ने सोशल मीडिया के जरिए यह अपील की। उन्होंने कहा कि कानून के दायरे में अपनी बात रखना ही जायज तरीका है। उन्होंने कहा कि मीडिया को भी ऐसे सांप्रदायिक तत्वों को मंच नहीं देना चाहिए जो दो समुदायों के बीच वैमनस्य पैदा करें। देश के कई राज्यों में हिंसा एवं तनाव चिंताजनक है। भारत में हिंसा एवं सांप्रदायिकता का कोई स्थान नहीं है। सभी नागरिकों को एक दूसरे के धर्म का सम्मान करना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत में हिन्दू, मुस्लिम एवं अन्य सभी समुदाय सदियों से साथ रहते आए हैं एवं आगे भी मिलजुल कर रहना है। इनका आपसी सद्भाव ही भारत की पहचान है।


Share