कानपुर में भड़की हिंसा : सीएम योगी ने देर रात बुलाई बैठक, बोले-उपद्रवियों पर लगेगा गैंगस्टर, संपत्ति पर चलेगा बुलडोजर

कानपुर में भड़की हिंसा : सीएम योगी ने देर रात बुलाई बैठक, बोले-उपद्रवियों पर लगेगा गैंगस्टर, संपत्ति पर चलेगा बुलडोजर
Share

कानपुर (एजेंसी)।  कानपुर के बेकनगंज इलाके में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद बवाल हो गया। यहां से 50 किमी दूर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गवर्नर आनंदीबेन पटेल और सीएम योगी आदित्यनाथ एक कार्यक्रम में भाग ले रहे थे। उपद्रवियों पर काबू पाने के लिए 12 थानों की पुलिस लगाई गई। घटना में शामिल 18 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। यूपी पुलिस के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बताया कि सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंची और स्थिति को नियंत्रण किया। मौके पर 12 कंपनी पीएसी को रवाना किया गया है। वहीं, नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने हिंसा पर सवाल उठाते हुए इंटेलिजेंस को फेल बताया। उधर जौहर फैंस एसोसिएशन के प्रमुख हयात हाशमी के खिलाफ एफआईआर की तैयारी हो रही है।

गोरखपुर से सीएम योगी की वर्चुअल बैठक, बोले-उपद्रवियों के घर पर चलेगा बुलडोजर

कानपुर देहात में राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के दौरे के बाद सीएम योगी सीधे गोरखपुर पहुंचे। शुक्रवार देर रात उन्होंने यूपी के लॉ एंड आर्डर पर वर्चुअल बैठक की। यूपी के अफसर इस बैठक में थे। उपद्रवियों पर गैंगस्टर एक्ट लगेगा। संपत्तियों को चिह्नित करके बुलडोजर चलाया जाएगा।

वहीं, सीएम ने नाराजगी जाहिर की। राष्ट्रपति और पीएम की मौजूदगी में हिंसा होने की जांच होगी। वहीं, कुछ अधिकारियों पर कार्रवाई के संकेत भी दिए गए। ये जांच रिपोर्ट सीएम ने तलब की है।

पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी को लेकर प्रोटेस्ट

दरअसल, भाजपा प्रवक्ता नुपूर शर्मा ने एक टीवी डिबेट में पैगंबर मोहम्मद पर टिप्पणी की, जिससे मुस्लिम समुदाय के लोग नाराज थे। मुस्लिम समुदाय के लोग यतीमखाना की सद्भावना चौकी के पास बाजार बंद करा रहे थे। तभी दो समुदाय के लोग आमने- सामने आ गए, जिसके बाद पथराव हुआ। बवाल इसलिए भी हुआ क्योंकि, जुमे की नमाज के दौरान ज्यादातर मस्जिदों में हुई तकरीरों में कहा गया कि वे पैगंबर पर की गई किसी भी टिप्पणी को बर्दाश्त नहीं करेंगे। वहीं, मुस्लिम संगठनों ने बाजार बंद का आह्वान भी किया। पुलिस ने किसी भी इलाके में लोगों को नमाज के बाद प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी थी। हालांकि, लोग सड़कों पर निकल आए।

कानपुर शहर में 4 घंटे तक चला उपद्रव

परेड चौराहा पर करीब एक हजार लोग इकट्ठा हुए। बवाल शुरू होने के बाद स्थितियां तेजी से बेकाबू हुईं। पुलिस तंग गलियों में घुसकर कार्रवाई नहीं कर पा रही थी। हालांकि करीब 4 घंटे तक चले उपद्रव के बाद स्थितियां काबू में आ गईं। पुलिस ने 18 उपद्रवियों को हिरासत में लिया है। वहीं, कानपुर उपद्रव पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उपद्रवियों पर सख्त कार्रवाई होगी। कोई बख्शा नहीं जाएगा।


Share