खस्ताहाल सड़क के विरोध में ग्रामीणों ने लगाया जाम

खस्ताहाल सड़क के विरोध में ग्रामीणों ने लगाया जाम
Share

उदयपुर. नगर संवाददाता & खस्ताहाल सड़क से परेशान झामर कोटड़ा क्षेत्र के ग्रामीणों ने मंगलवार सुबह जाम लगा दिया। आरएसएमएम गेट के पास ग्रामीणों ने सड़क पर कंटीली झाडियां डालकर अपना विरोध जताते हुए प्रदर्शन किया। सूचना पर कुराबड़ थाना पुलिस मौके पर पहुंची और समझाइश कर जाम को खुलाया गया। सड़क जाम होने से करीब 3 किलोमीटर लंबा जाम लग गया। करीब तीन घंटे तक स्कूल बसें और डम्पर जाम में फंसे रहे। गिर्वा तहसीलदार नरेंद्र सिंह सोलंकी और पीडब्ल्यूडी सहायक अभियंता निशा कुमावत ने समझाइश कर दोपहर करीब 1 बजे जाम खुलवाया।

जानकारी के अनुसार झामर कोटड़ा सरपंच गुलाबी मीणा के नेतृत्व में मटून, उमरड़ा, कानपुर, लकड़वास, चांसदा समेत आधा दर्जन गांवों के लोगों ने आरएसएमएम गेट के पास सड़क जाम कर दी। सड़क पर कंटीली झाडिय़ां डालकर लोगो ने स्थानीय प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। सूचना पर कुराबड़ थानाधिकारी अमित कुमार मौके पर पहुंचे और जाम खुलवाने की कोशिश की, लेकिन ग्रामीण हटने को तैयार नहीं हुए और जिम्मेदार विभाग के अधिकारियों को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़ गए। करीब तीन घंटे तक ग्रामीणों का विरोध जारी रहा। सूचना पर गिर्वा तहसीलदार नरेंद्र सिंह सोलंकी और पीडब्ल्यूडी सहायक अभियंता निशा कुमावत मौके पर पहुँचे और आश्वासन के बाद ग्रामीण माने।

ग्रामीणों का कहना है कि लगातार पीडब्ल्यूडी समेत कई विभागों को सड़क बनाने की मांग को लेकर अब तक कई बार ज्ञापन दिया जा चुका है लेकिन कोई सुनने को तैयार नहीं है। कई वर्षों से खस्ताहाल सड़क के कारण यहां कोई न कोई हादसा होता रहता है। ग्रामीणों की उमरड़ा से झामर कोटड़ा तक नई सड़क बनवाने और डम्पर चालकों को तिरपाल लगाने के लिए पाबंद करने समेत 3 मांगे रखी थी। जिस पर तहसीलदार और सार्वजनिक निर्माण विभाग की अधिकारी ने उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया, तब कहीं जाकर ग्रामीण माने और जाम खोला।


Share