ग्राम विकास अधिकारी सीधी भर्ती परीक्षा 27 व 28 दिसम्बर को, उदयपुर में 100 केन्द्रों पर एक लाख से ज्यादा परीक्षार्थी देंगे परीक्षा

Village Development Officer Direct Recruitment Examination on 27th and 28th December
Share

उदयपुर. नगर संवाददाता & राजस्थान अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड, जयपुर द्वारा 27 और 28 दिसम्बर को आयोजित होने वाली ग्राम विकास अधिकारी सीधी भर्ती परीक्षा की तैयारियों को लेकर जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने गुरुवार को बैठक ली। जिला कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में जिला कलक्टर देवड़ा ने अभ्यर्थियों के सुगम आवागमन, परीक्षा केंद्रों पर निर्बाध विद्युत आपूर्ति, कोविड-19 गाइडलाइन की पालना सुनिश्चित करवाने, कानून व्यवस्था, अभ्यर्थियों के ठहरने सहित अन्य महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा की। उदयपुर मुख्यालय पर दो दिन में चार चरणों में 100 परीक्षा केंद्रों पर 1 लाख 15 हजार 928 परीक्षार्थियों के शामिल होने की संभावना है।

विकलांग और महिलाओं के सेंटर गृह जिले में

ग्राम विकास अधिकारी भर्ती परीक्षा 27 और 28 दिसंबर को दो पारियों – सुबह 10 से 12 व दोपहर 2:30 से 4:30 बजे तक चार चरणों में आयोजित होगी। 27 दिसम्बर को प्रात:कालीन पारी में उदयपुर जिले से 14187, सायंकालीन पारी में 15031, 28 दिसम्बर को प्रात:कालीन पारी में 12,274 तथा सायं कालीन पारी में 11,812 परीक्षार्थी जोधपुर, जयपुर, राजसमंद जाएंगे। इनमें से उदयपुर जिले के महिला एवं विकलांग परीक्षार्थियों को उदयपुर मुख्यालय पर ही परीक्षा केन्द्र आवंटित किए गए हैं। ऐसे अभ्यर्थियों की संख्या 27 दिसम्बर को प्रात:कालीन पारी में 5954, सायंकालीन पारी में 5979, जबकि 28 दिसम्बर को प्रात:कालीन पारी में 5050 तथा सायं कालीन पारी में 5809 है।

परीक्षार्थियों को न हो कोई परेशानी कलक्टर देवड़ा

कलक्टर देवड़ा ने परीक्षार्थियों के सुगम आवागमन के लिए जयपुर से उदयपुर के लिए स्पेशल ट्रेन चलाने का प्रस्ताव तैयार कर राज्य सरकार को भिजवाने के निर्देश दिए। इसके साथ ही शहर में बाहर से आने वाले परीक्षार्थियों के लिए अस्थाई बस स्टैंड, ठहरने और परीक्षा केंद्रों के पास रियायती दरों पर भोजन-अल्पाहार उपलब्ध कराने, उडऩदस्ते गठित करने आदि के संबंध में चर्चा की। कलक्टर ने सीएमएचओ दिनेश खराड़ी को परीक्षा केंद्रों पर परीक्षार्थियों के लिए मास्क उपलब्ध करवाने की जिम्मेदारी सौंपी। वहीं, निगम प्रशासन को परीक्षा केन्द्रों पर सेनेटाइजर उपलब्ध करवाने और निर्धारित गाइडलाइन के अनुसार सेनेटाइज कराने के निर्देश दिए। परीक्षार्थियों की सुविधा के लिए हेल्पडेस्क स्थापित करने और बस, रेल, आवास संबंधित उपयोगी जानकारियां और संपर्क सूत्र रेलवे स्टैण्ड और बस स्टैण्ड सहित प्रमुख चौराहों पर फ्लेक्स-बैनर इत्यादि के माध्यम से प्रदर्शित करने के निर्देश दिए।

रोडवेज से सीखें सकारात्मकता के साथ काम करना: कलक्टर

जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने कोरोना काल, रीट परीक्षा और प्रशासन गांवों के संग अभियान में रोडवेज प्रबंधन की भूमिका की सराहना करते हुए कहा कि तमाम चुनौतियों और विषमता के बावजूद जीवन में सकारात्मकता के साथ कैसे काम किया जा सकता है, यह उदयपुर के रोडवेज प्रबंधन से सीखा जा सकता है। कलक्टर ने प्रशासन गांवों के संग शिविरों के दौरान रोडवेज अधिकारियों-कर्मचारियों की सकारात्मक भूमिका की भी सराहना की। कलक्टर ने उदयपुर रोडवेज के चीफ डिपो मैनेजर महेश उपाध्याय को इसके लिए बधाई दी। बैठक में एडीएम प्रशासन ओपी बुनकर, डिप्टी कमिश्नर (टीएडी) सुरेश कुमार खटीक, आरटीओ प्रकाश राठौड़, डीटीओ कल्पना शर्मा, जिला रसद अधिकारी गीतेशश्री मालवीय, सीडीईओ ओमप्रकाश आमेटा, डीईओ मुकेश पालीवाल, सीएमएचओ डॉ. दिनेश खराड़ी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


Share