वैक्सीन की कमी के कारण राजस्थान में 15 मई से शुरू होगा 18+ का टीकाकरण

According to the rules of the destination country, passengers will be able to get precaution dose
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। कोरोना के खिलाफ जारी जंग में वैक्सीनेशन का तीसरा चरण 1 मई से शुरू होना है। लेकिन राजस्थान में ऐसा नहीं हो पाएगा। राज्य सरकार का कहना है कि उनके यहां 15 मई से ही 18 से अधिक उम्र वाले लोगों को वैक्सीन लगाने की प्रक्रिया शुरू होगी। राजस्थान के अलावा अब महाराष्ट्र की ओर से भी साफ कर दिया गया है कि एक मई से वैक्सीनेशन का नया चरण शुरू नहीं होगा। दरअसल, राजस्थान को ये फैसला वैक्सीन की सप्लाई में हो रही देरी के कारण करना पड़ रहा है। राजस्थान सरकार का कहना है कि उन्होंने सीरम इंस्टीट्यूट को साढ़े 3 करोड़ वैक्सीन की डोज़ का ऑर्डर दिया है, लेकिन ये कब मिलेंगी अभी साफ नहीं हो पाया है। राजस्थान सरकार का आरोप है कि केंद्र की ओर से उन्हें परस्पर वैक्सीन की सप्लाई नहीं मिल रही है, ऐसे में 1 मई से भी राज्य में 45 से अधिक उम्र वाले लोगों को ही टीका लगाया जाएगा। अभी इस श्रेणी के करीब एक करोड़ लोग वैक्सीन में टीका नहीं लगवा पाए हैं। राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा के मुताबिक, उनके राज्य को कुल 7 करोड़ वैक्सीन की डोज की जरूरत है। सीरम इंस्टीट्यूट को उन्होंने 3.75 करोड़ डोज का ऑर्डर दे दिया है। ऐसे में ये सप्लाई 15 मई के आसपास ही आ सकती है।

महाराष्ट्र में भी नहीं शुरू होगा नया चरण

राजस्थान के अलावा महाराष्ट्र ने भी साफ कर दिया है कि एक मई से वैक्सीनेशन का नया चरण शुरू नहीं होगा। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा है कि युवाओं से विनती है कि वो थोड़ा सब्र रखें। उन्होंने कहा कि भारत बायोटेक ने हर महीने 10 लाख वैक्सीन देने की बात कही है, बाद में इसे 20 लाख तक किया जाएगा। जबकि सीरम ने हर महीने एक करोड़ डोज देने की बात कही है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि राज्य के सभी लोगों को वैक्सीन फ्री में लगाई जाएगी। सीएम ने कहा, सभी को मुफ्त में टीका  दिया जाएगा, लेकिन टीकाकरण केंद्र पर भीड़ ना हो इसका ख्याल रखा जाए। 1.5 करोड़ लोगों को हम टीका लगा चुके हैं ये एक रिकॉर्ड है। वैक्सीन की सप्लाई कैसी हो, इसकी प्लानिंग कर जल्द ऐलान किया जाएगा।

राजस्थान के अलावा कई अन्य राज्य भी हैं जिन्होंने वैक्सीन की कमी का संकट बताया है। साथ ही एक मई से नए चरण को शुरू करने से पहले ही हाथ खड़े कर दिए है। राज्यों का कहना है कि उनको अभी के हिसाब से ही पूरी वैक्सीन नहीं मिल पा रही है। हालांकि, केंद्र का कहना है कि राज्यों के पास एक करोड़ वैक्सीन स्टॉक में हैं, 80 लाख अगले तीन दिनों में मिल जाएंगी।


Share