छात्र की गिरफ्तारी के बाद उत्तराखंड की महिला हिरासत में

Uttarakhand woman in custody after student's arrest
Share

मुंबई (एजेंसी)। मुंबई साइबर पुलिस ने ‘बुली बाई’ मामले की मुख्य आरोपी एक महिला को उत्तराखंड से हिरासत में लिया है, जबकि बेंगलुरू के 21 वर्षीय इंजीनियरिंग छात्र को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक हिरासत में ली गई महिला इस मामले में मुख्य आरोपी है। पुलिस की टीम महिला से पूछताछ कर रही है। एक अधिकारी ने बताया कि महिला को ट्रांजिट रिमांड के लिए एक अदालत में पेश किया जाएगा और इसके बाद मुंबई लाया जाएगा। बेंगलुरू से गिरफ्तार छात्र की पहचान विशाल कुमार के रूप में की गई है। मजिस्ट्रेट ने विशाल को 10 जनवरी तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया है और पुलिस को उसके परिसरों की तलाशी लेने की भी अनुमति दी है। पुलिस के मुताबिक, उत्तराखंड की महिला और विशाल एक-दूसरे को जानते हैं। वे फेसबुक और इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर दोस्त हैं। इसलिए एक-दूसरे से संपर्क में रहते थे।

सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं की अनुमति के बिना उनकी तस्वीरों से छेड़छाड़ कर उन्हें बुली बाई ऐप पर नीलामी के लिए लिस्टेड किया गया था। साइबर सेल ने अज्ञात लोगों के खिलाफ शिकायत के बाद प्राथमिकी दर्ज की थी कि गिटहब मंच से एक ऐप पर मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें नीलामी के लिए अपलोड की गई थीं। एक साल से भी कम समय में दूसरी बार ऐसा हुआ है। यह ऐप ‘सुली डील्स’ की तरह है, जिसके कारण पिछले साल इसी तरह का विवाद पैदा हुआ था। पुलिस ने बताया कि मुख्य आरोपी महिला ‘बुली बाई’ ऐप से जुड़े तीन अकाउंट हैंडल कर रही थी। सह आरोपी विशाल कुमार ने खालसा सुप्रीमिस्ट के नाम से खाता खोला। 31 दिसंबर को उसने अन्य खातों के नाम बदलकर सिख नामों से मिलते-जुलते कर दिए।

एफआईआर के मुताबिक बुली बाई एक ऐसा ऐप्लिकेशन है, जहां पर नामचीन मुस्लिम महिलाओं की तस्वीर पोस्ट कर उनकी बोली लगाई जाती थी।


Share