उषा शर्मा राजस्थान की मुख्य सचिव बनी, रिटायरमेंट के बाद निरंजन आर्य बने सीएम के सलाहकार

Usha Sharma becomes Chief Secretary of Rajasthan, Niranjan Arya becomes advisor to CM after retirement
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। सीनियर आईएएस उषा शर्मा ने सोमवार को मुख्य सचिव का पद संभाल लिया। उन्हें रिटायर हुए निवर्तमान सीएस निरंजन आर्य ने पदभार सौंपा। इससे पहले ही कार्मिक विभाग ने आर्य को मुख्यमंत्री का सलाहकार नियुक्त करने के आदेश जारी कर दिए हैंं। मुख्यमंत्री का सलाहकार बनते ही आर्य को आरपीएससी अध्यक्ष पद की दौड़ से बाहर माना जा रहा है। उषा शर्मा खुद से जूनियर निरंजन आर्य के रिटायरमेंट के बाद सीएस बनी हैं। उन्हें केन्द्र सरकार ने रविवार को ही राज्य सरकार के आग्रह पर डेपुटेशन से रिलीव किया था। 1985 बैच की आईएएस उषा शर्मा युवा मामले और खेलकूद मंत्रालय में नियुक्त थीं। निरंजन आर्य 1989 बैच के आईएएस हैं। उषा शर्मा मुख्य सचिव बनने वाली दूसरी महिला आईएएस हैं। इससे पहले पिछली गहलोत सरकार में कुशल सिंह को मुख्य सचिव बनाया गया था।

अगले साल जून में रिटायर्ड होंगी

उषा शर्मा का कार्यकाल करीब डेढ़ साल का रहेगा। वे जून 2023 तक इस पद पर रहेंगी। 2023 में चुनाव से 6 महीने पहले ही वे रिटायर हो जाएंगी। सरकार को चुनाव से ठीक पहले नया मुख्य सचिव नियुक्त करने का मौका मिलेगा। हालांकि एक्सटेंशन का विकल्प भी खुला रहेगा।

लंबे अरसे बाद नियुक्ति में सीनियरिटी नहीं लांघी

लंबे समय बाद ऐसा हुआ जब उषा शर्मा की नियुक्ति के मामले में सीनियरिटी नहीं लांघी गई है। 1985 बैच की आईएएस उषा शर्मा के बैच के केवल एक आईएएस रविशंकर श्रीवास्तव हैं, जो पहले से ही सचिवालय से बाहर तैनात हैं। बाकी सभी अफसर उषा शर्मा से जूनियर हैंं। निरंजन आर्य 1987 बैच के थे तब बहुत से अफसरों की सीनियरिटी लांघी गई थी। उनसे सीनियर अफसरों को सचिवालय से बाहर करना पड़ा। अब ऐसी नौबत नहीं आएगी। परंपरा के हिसाब से मुख्य सचिव से सीनियर अफसर सचिवालय से बाहर किए जाते हैंं। इस बार निरंजन आर्य के सीएस बनने दौरान बाहर किए सीनियर अफसरों को वापस सचिवालय में तैनात किया जा सकता है।


Share