यूक्रेन के रक्षा खुफिया कमांडर ने बताया- बहुत जल्दी यूक्रेनी सेना अक्षम हो जाएगी

Ukraine's defense intelligence commander told - very soon the Ukrainian army will be disabled
Share

कीव (एजेंसी)। रूस की सेना इस वक्त यूक्रेन के कई इलाकों में तबाही मचा रही है। हालांकि यूक्रेन भी पूरे दम के साथ रूसी सैनिकों के वार का मुंहतोड़ जवाब दे रहा है। लेकिन कब तक यूक्रेन रूसी सेना के आगे टिक पाएगी? यूक्रेन में सैन्य खुफिया कमांडर जनरल किरीलो ओ बुडानोव का कहना है कि जल्द ही यूक्रेन की सेना अक्षम हो जाएगी। आगे की लड़ाई फ्रंटलाइन कमांडरों पर ही सीमित हो जाएगी।

यूक्रेन में सैन्य खुफिया कमांडर जनरल किरीलो ओ बुडानोव ने कहा कि पिछले कुछ हफ्तों में पश्चिमी सहयोगियों द्वारा यूक्रेन को दिए गए हथियारों, गोला-बारूद और उपकरणों के साथ यूक्रेनी सेना पूरे दम खम के साथ रूसी सैनिकों के खिलाफ मोर्चा संभाले हुए है। लेकिन ऐसा ज्यादा देर तक नहीं टिक पाएगा। उन्होंने कहा कि रूसी आक्रमणकारियों ने हमले की शुरूआत हवाई हमलों और रॉकेट हमलों के साथ शुरू किया, जिसका उद्देश्य गोला-बारूद डिपो और खाई में छिपे अपने सैनिकों को संदेश देना था।

हालांकि वे आगे कहते हैं कि बहुत जल्दी यूक्रेनी सेना अक्षम हो जाएगी। तब तक डटे रहेंगे जब तक गोलियां हैं। वे अपने हाथों में जो कुछ भी है उसका उपयोग करने में सक्षम होंगे। लेकिन मेरा विश्वास करो, बिना हथियारों के दुनिया में ऐसी कोई सेना नहीं है जो उन्हें रोक सके। बुडानोव का यह बयान ऐसे समय में आया है जब रूसी सेना ने यूक्रेन की सीमा पर लगभग 100,000 सैनिकों को तैनात किया है। हाल के हफ्तों में रूसी सेना ने उन्नत एस -400 एंटी-एयरक्राफ्ट सिस्टम भी तैनात किए हैं जो यूक्रेन की छोटी वायु सेना को प्रभावी ढंग से बेअसर करने में सक्षम है। साथ ही इस्कंदर-एम क्रूज मिसाइलें यूक्रेन में कहीं भी लक्ष्य पर हमला कर सकती है।

पश्चिमी देशों से यूक्रेन ने मांगी मदद

यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की ने रूसी हमले के बाद पश्चिमी देशों से मदद मांगी है। पहले जहां अमेरिका, जर्मनी और ब्रिटेन रूस को चेतावनी दे रहा था लेकिन अभी तक किसी भी देश ने यूक्रेन की मदद और रूस के खिलाफ सैन्य कार्रवाई के लिए कोई कदम नहीं उठाया है। हालांकि नाटो ने इस संबंध में कड़ा रूख अख्तियार किया है। यूक्रेन संकट पर नाटो कल बैठक करेगा, साथ ही 100 लड़ाकू विमानों को तैयार रखा गया है।


Share