उदयपुर : पिछले चार दिनों से सुलग रहे झाड़ोल के जंगल, संसाधनों की कमी से वन विभाग के कर्मचारी भी हुए नाकाम

Udaipur: The forest of Jhadol has been smoldering for the last four days, due to lack of resources, the employees of the forest department also failed.
Share

उदयपुर। उदयपुर के झाड़ोल के जंगल पिछले चार दिन से लगातार सुलग रहे हैं। यहां रणघाटी, पाबा, जमबेरी, सांडौल माता की नाल सहित झाड़ोल कस्बे के सामने आमझड़ महादेव के जंगलों में शनिवार को आग लगी थी। आग से मंगलवार को जंगलों में काफी तबाही हुई। वन विभाग के कर्मचारी मौके पर आग बुझाने भी पहुंचे। मगर संसाधनों के अभाव में आग बुझाने में नाकाम रहे। इधर तेज हवा के चलते आग और आगे बढ़ते हुए सांडोल माता की नाल से होते हुए कोचला के जंगलों और आमझड़ महादेव से अड़ोल के जंगलों तक पहुंच गई।

तेज हवा से आग बुझाने में आ रही परेशानी

वन विभाग के कर्मचारी तीन दिन से संसाधनों के अभाव में हरे पत्तेदार झाडिय़ों से आग बुझाने की कोशिश कर रहे हैं। मगर तेज हवा के चलते दिक्कतें हो रही हैं। चार दिन पहले झाड़ोल उदयपुर नेशनल हाईवे 58 ई पर रण घाटी के जंगलों में आग लग गई। जो कि धीरे-धीरे बढ़ते हुए सांडोल माता वन क्षेत्र होते हुए आमझड महादेव के जंगलों तक पहुंच गई। इसे लेकर झाड़ोल के क्षेत्रीय वन अधिकारी हीरा लाल सैनी ने बताया कि हमारे पास आग बुझाने के कोई संसाधन नही हैं। वहीं कार्मिको के पद भी खाली हैं,हम लोग स्थानीय ग्रामीणों से सहयोग मांग कर पत्तेदार झाडिय़ों से आग बुझा रहे हैं। मगर तेज हवा चलने से आग बुझने की बजाय और बढ़ रही है।


Share