पूर्वी यूक्रेन में दो सैनिकों की मौत, रूस का बड़ा आरोप- सीमा पार से गोले बरसा रही कीव सेना

Two soldiers killed in eastern Ukraine, Russia's big charge - Kiev army shelling from across the border
Share

मॉस्को/कीव (एजेंसी)।  यूक्रेन और रूस के बीच जंग का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। इस बीच शनिवार को खबर आई कि यूक्रेन सीमा के पास रूसी इलाके में दो गोले दागे गए। रूसी संघीय सुरक्षा सेवा ने इन खबरों की पुष्टि की है। ये खबरें ऐसे समय पर आ रही हैं जब यूक्रेन में रूस समर्थित विद्रोहियों के कब्जे वाले इलाके में लगातार विस्फोट और गोलीबारी हो रही है। शनिवार को खबर आई कि पूर्वी यूक्रेन में हुई गोलाबारी में यूक्रेनी सेना के दो सैनिकों की मौत हो गई। हमले के डर से विद्रोहियों ने अपनी सेना को लामबंद होने का आदेश दे दिया है। स्पुतनिक की रिपोर्ट के मुताबिक शनिवार को एक कानून प्रवर्तन सूत्र ने कहा कि यूक्रेन बॉर्डर के पास रूस के रोस्तोव इलाके में दो गोले दागे गए। एफएसबी यानी रूसी संघीय सुरक्षा सेवा के सीमा विभाग ने पुष्टि की है कि शनिवार को रूसी रोस्तोव क्षेत्र में दो गोले दागे गए। एफएसबी ने गोलाबारी के बाद का एक वीडियो भी साझा किया है। रूस की जांच समिति ने यूक्रेन क्षेत्र से रूसी इलाके पर गोलाबारी पर आपराधिक कार्यवाही शुरू की है।

रूस ने लगाया गोलाबारी का आरोप

समिति ने कहा कि शनिवार की सुबह यूक्रेन के क्षेत्र में अज्ञात व्यक्तियों ने कई रॉकेट लांचर का इस्तेमाल करके रोस्तोव इलाके के सीमावर्ती क्षेत्रों पर गोले बरसाए। हालांकि इसमें कोई नागरिक हताहत नहीं हुआ। रिपोर्ट के मुताबिक घटना स्थल का निरीक्षण अभी किया जा रहा है। दूसरी ओर यूक्रेन ने रूस के इन आरोपों को खारिज किया है। यूक्रेन के विदेश मंत्री ने कहा कि हम रूसी क्षेत्र में किसी भी कथित यूक्रेन गोलीबारी के सभी आरोपों का दृढ़ता से खंडन करते हैं।

यूक्रेन ने आरोपों का किया खंडन

दिमित्रो कुलेबा ने कहा कि यूक्रेन ने इस तरह की किसी भी गोलीबारी कभी नहीं की है। हम रूसी मीडिया की ओर से रिपोर्ट की गई घटनाओं की तत्काल और निष्पक्ष अंतरराष्ट्रीय जांच की अपील करते हैं। शनिवार को पूर्वी यूक्रेन में हुई गोलाबारी में यूक्रेनी सेना के दो सैनिकों की मौत हो गई। इस इलाके पिछले कुछ दिनों से बेहद अशांत चल रहा है जिस पर रूस समर्थित विद्रोहियों का कब्जा है। विद्रोही और यूक्रेनी सेना लगातार एक दूसरे पर मोर्टार दागने का आरोप लगा रहे हैं।

जर्मनी ने नागरिकों से ‘तत्काल’ निकलने के लिए कहा

यूक्रेन में अफरातफरी के माहौल के बीच जर्मनी ने अपने नागरिकों से कहा है कि वे ‘तत्कालÓ यूक्रेन छोड़ दें। इससे पहले बाइडन ने भी अपने नागरिकों से यूक्रेन छोडऩे के लिए कहा था और भारतीय दूतावास ने भी एडवाइजरी जारी की थी। पूर्वी यूक्रेन में एक अलगाववादी नेता ने आक्रमण के बढ़ते डर के बीच पूर्ण सैन्य लामबंदी का आदेश दिया है। दोनेत्स्क क्षेत्र में रूस समर्थित अलगाववादी सरकार के प्रमुख डेनिस पुशिलिन ने शनिवार को एक बयान जारी कर पूर्ण सैन्य लामबंदी की घोषणा की और रिजर्व बल के सदस्यों से सैन्य भर्ती कार्यालय में आने का अनुरोध किया।

विद्रोहियों ने की पूर्ण सैन्य लामबंदी की घोषणा

हाल के दिनों में क्षेत्र में यूक्रेन की सेना और रूस समर्थित विद्रोहियों के बीच हिंसा बढऩे के बाद यह कदम उठाया गया है। इस हिंसा को लेकर पश्चिम देशों ने आशंका जतायी है कि मॉस्को इसकी आड़ में हमला कर सकता है। दोनेत्स्क और लुहांस्क में अलगाववादी प्राधिकारियों ने शुक्रवार को महिलाओं, बच्चों तथा बुजुर्गों को पड़ोसी रूस भेजने की घोषणा की थी। इन प्रयासों के तुरंत बाद विद्रोहियों के कब्जे वाले इलाकों में कई विस्फोट हुए थे। पूर्वी यूक्रेन में अलगाववादी संघर्ष 2014 में शुरू हुआ और इसमें 14,000 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं।


Share