Monday , 15 October 2018
Top Headlines:
Home » Twitter » Twitter : Suresh Goyal

Twitter : Suresh Goyal

  • मी टू – मी टू की चिल्ल पौं में नाना पाटेकर से विनोद दुआ तक पचासों लोग लपेटे में ….किसी का बाल तक बांका नहीं मगर सूली पर चढ गया एक अदद एम.जे. अकबर
  • अकबर पर आरोप लगाने वाली एक मी टू कहती है कि उसने मेरी ब्रा का हूक खोलना चाहा… कोई इससे पूछे कि तू ब्रा पहन कर अकबर के यहां कर क्या रही थी?
  • एक अन्य मी टू कहती है कि अकबर उसके सीने को घूरता था… हा…. हा… खुद एसे कपड़े पहनती जिससे आधा सामान बाहर निकलता दिखाई देता… सीने के उपर टेटू अलग लिखवा देती… किसलिये?
  • सुभाष घई की मी टू कह रही कि उसने घर बुलाकर 5-6 लोगों के सामने मुझसे मालिश करवाई.. . तू क्यूं तैयार हो गई? मना कर देती… 5-6 लोग थे
  • तनुश्री, नाना पाटेकर का नार्को टेस्ट करवाने की मांग कर रही… तनुश्री? बेहतर तो यह होता कि तुम अपना नार्को टेस्ट करवा कर, सर्टिफिकेट लहराते यह मांग करती… बात में वजन पड़ जाता
    कमलनाथ? …क्या सिध्दू को भी पिला दिया? ….तभी सिध्दू को
  • भारत से ज्यादा पाकिस्तान प्यारा लग रहा है
    मोदी? ….यह कैसा हिन्दुस्तान बना रहे? ….अजमेर दरगाह नहीं जाने की अपील की तो मुम्बई पुलिस ने सन्नी गुप्ता को डेढ महीने जेल में डाल दिया… हुनर हाट में हिन्दुओं को प्रवेश नहीं ….मुस्लिम विरोध से दुर्गा पूजा नहीं….
  • …. अलीगढ मु.यू. में आतंकवादी मनान वानी की शोक सभा का प्रयास… मोदी? …तुम तो पांच और मुस्लिम यूनिवर्सिटियां खोल रहे…. सोचो तब क्या होगा? ….अपना मुस्लिम विरोधी अपराध बोध छुपाने हिन्दुओं को कब तक प्रताडि़त करोगे?
  • राहुल ने दुर्दान्त आतंकवादी संगठन माकपा (लेनिन) के हथियार बन्द दस्ते के सदस्य माओवादी गुमड्डी विठ्ठल राव को गले लगाकर अपनी पार्टी में शामिल किया ….कांग्रेस का हाथ शहरी नक्सलियों के साथ?
  • राहुल? …..एच.ए.एल. की बड़ी चिन्ता हो रही है…. मगर तुम्हारी यू.पी.ए. सरकारों ने एच.ए.एल. को काम क्यूं नहीं दिया? …. क्यूं रूस से मिग और फ्रान्स से मिराज विमान खरीदे?
  • कोलम्बिया यूनि. के एक अध्ययन के अनुसार ब्रिटेन ने 1765 से 1938 के बीच भारत से 10 हजार बिलीयन डालर की सम्पत्ति लूटी…. ब्रिटेन की समूची इकोनोमी भारत की लूट से ही खड़ी हुई… वापस करो!

One comment

  1. मनीष गुप्‍ता

    इंदिराजी ने आपात काल लगाने के बाद छवि बचाने के लिए उसे अनुश्‍ाासन पर्व का नाम दिया था। लोकतांत्रिक सरकार के चलते हुए मोदीजी के बयान की तुलना इंदिराजी के आपातकाल के अनुशासन से करना तर्कसंगत नही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.