Friday , 19 October 2018
Top Headlines:
Home » Twitter » Twitter : Suresh Goyal

Twitter : Suresh Goyal

  • संघ प्रमुख मोहन भागवत द्वारा सबरीमाला पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले की आलोचना … बोले – सभी पहलुओं पर विचार किये बिना लिये गये फैसले न तो अमल में लाये जा सकते न ही नई सामाजिक दिशा का निर्धारण कर सकते
  • हकीकत तो यह है कि पश्चिमी मूल्यों में पले-बढे, पढे-लिखे, भाई-भतीजावाद से नियुक्त, अधिकांश जजों को हिन्दू परम्पराओं, संस्कृति व विरासत का ज्ञान ही नहीं … जबकि ब्रिटिश राज तक में अंग्र्रेज जज भारतीय मूल्यों का बराबर ध्यान रखते थे
  • सबरीमाला के खिलाफ याचिका दायर करने वाले ही जब गैर हिन्दू थे तो सुप्रीम कोर्ट उनकी याचिका एक मिनट में ठुकरा सकता था – उनकी कोई अधिस्थिति ही नहीं … अन्य मामलों में एसा करती भी है मगर …
  • केरल की कम्युनिस्ट सरकार के ईसाई आई.जी. मनोज एब्राहम सबरीमाला के हिन्दू भक्तों पर कहर बरपा रहे, स्त्रियों पर लाठियां बरसा, उन्हें लहू लुहान हालत में गिरफ्तार किया जा रहा … यह वही आई.जी. है जिसने बलात्कारी बिशप को गिरफ्तार करने के आदेश नहीं दिये तथा ननों को भी सुरक्षा नहीं दी
  • सबरीमाला पर हमले के विरोध में 80 साल के कोईलेण्डा के गुरूस्वामी श्री पण्डालुर रामकृष्णन ने आत्महत्या कर अपने प्राण त्यागे … देश धृतराष्ट्र बना देख रहा … जिस तरह मां गंगा की रक्षा करने एक वृद्ध संत को 4 माह के अनशन में मरने दिया गया
  • सुप्रीम कोर्ट ने सबरीमाला मेें 10 से 50 साल वय की स्त्री भक्तों को महज पूजा करने की अनुमति दी है, वहां की परम्पराएं तोडऩे की नहीं मगर वहां जा रही ईसाई कम्युनिस्ट व नास्तिक औरतें परम्पराएं तोड़ कर जाने का प्रयास कर रही …
  • … भक्तों को पूजा से पूर्व 41 दिन तक कांदा लसण, सेक्स, होटल के खाने से दूर रह फर्श पर सोना व दिन में दो बार नहाना जरूरी है, जूते चप्पल भी निषिद्ध हैं मगर मीडिया की स्त्रियों समेत तमाम नारी अधिकारवादी स्त्रियां इन आवश्यकताओं का पालन नहीं कर रही
  • एक रंजना कुमारी जो विदेशी चर्चों के चन्दे पर एन.जी.ओ. चलाती है, शराब पीती है, खुद को नास्तिक बताती है, भगवान अयप्पा के ब्रह्मचर्य की मजाक उड़ा उन्हें नपुसंक बताती है और उनका ईलाज भी करना चाहती है अब काले कपड़े पहन दर्शन करना चाहती …
  • … एक अन्य औरत जो अयप्पा को नहीं मानती मगर अपनी कम्युनिस्ट पार्टी के आदेश पर सबरीमाला जा रही … एक ईसाई औरत राहेल कह रही कि वह रजस्वला है फिर भी जा रही … एक अन्य वहां कन्डोम की दुकान खोलना चाहती … माई लोर्ड? … देख लिया आप लोगों ने क्या कर दिया है
  • मोदी? … कहां सोये पड़े हो? … मुस्लिम स्त्रियों को न्याय दिलाने किसी भी सीमा तक जा सकते तो हिन्दू स्त्रियों के लिये क्यूं नहीं?
    बलात्कारी बिशप का जमानत पर छूटने पर हीरो की तरह स्वागत … जेल में सड़ रहे हिन्दू सन्त जरूर सोचते होंगे कि काश वे भी ईसाई होते
  • कठुआ बलात्कार कांड में लोगों ने महज जांच टीम बदलने की मांग की तो उन्हें भी बलात्कारी करार दे दिया गया … अब जो लोग बलात्कारी फ्रेन्को मुलक्कल को मालाएं पहना रहे वो क्या हुए? … महाबलात्कारी!
  • कुछ समय पूर्व ही सुप्रीम कोर्ट के एक जज ने पूछा था – आखिर ये बलात्कार रूकेंगे कब? …. हा … हा … माईलोर्ड अगर इसी तरह बलात्कारियों को जमानतें देते रहें तो शायद ही …
  • आखिर भाजपा का पिलपिलापन उजागर हो ही गया … बिचारे एम.जे. अकबर से इस्तीफा दिलवा कर रही … हा … हा … लोग करोड़ों के भ्रष्टाचार के आरोपों में जमानत पर रिहा होने के बाद भी शीर्ष पदोंपर चल रहे मगर इनकी हिम्मत नही … फट्टू!

One comment

  1. मनीष गुप्‍ता

    इंदिराजी ने आपात काल लगाने के बाद छवि बचाने के लिए उसे अनुश्‍ाासन पर्व का नाम दिया था। लोकतांत्रिक सरकार के चलते हुए मोदीजी के बयान की तुलना इंदिराजी के आपातकाल के अनुशासन से करना तर्कसंगत नही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.