Tuesday , 18 June 2019
Top Headlines:
Home » Twitter » Twitter : Suresh Goyal

Twitter : Suresh Goyal

  • गुलाम नबी आजाद ने पल्टी मारी…. गैर कांग्रेसी प्रधानमंत्री स्वीकार करने की पहल के अगले ही दिन पलट गये और कह रहे कि कांग्रेस सबसे पुरानी पार्टी है इसलिये प्रधानमंत्री का पहला मौका तो कांग्रेस को ही मिलना चाहिये… किसी ने क्लास ली दिखती है

  • हा… हा… भाजपा में भी सेम पकोड़ों, माणिकंकरों की कमी नहीं… अब साध्वी प्रज्ञा और केन्द्रीय मंत्री अनन्त हेगड़े खामखाह गोडसे को महिमामंडित कर सेल्फ गोल दागे जा रहे

  • गोडसे की जितनी निन्दा-भत्र्सना की जाये कम है मगर विभाजन के कारण जो हजारों लाखों लोगों की हत्याएं हुईं उसकी भी जिम्मेवारी क्यूं नहीं तय की जाती?…. इन हत्याओं के दोषियों को सर्वोच्च सम्मानों से नवाजा जाना कितना उचित…. क्या इस पर कभी कोई बहस होगी?

  • उस समय देश के कानून मंत्री बाबा साहेब अम्बेडकर ने गोडसे की फांसी की सजा उम्र कैद में बदलवाने की पेशकश की थी मगर गोडसे ने मना कर दिया… गोडसे ने बाबा साहब को कहा कि कृपया ध्यान रखें कि मुझ पर किसी तरह की दया नहीं दिखाई जाये, मैं अपने वध द्वारा दिखाना चाहता हूं कि गांधीजी की अहिंसा को फांसी दे दी गई…

  • गांधीजी की हत्या के बाद अहिंसा के पुजारी गांधीवादियों ने हिंसा का नंगा नाच कर दिया था…. सतारा, कोल्हापुर, बम्बई, पुणें आदि में हजारों चितपावन ब्राह्मणों की हत्या कर दी गई… अकेले बम्बई में 25 हजार हिन्दुओं को जेलों में ठूंस दिया गया… सवा लाख गांधीवादियों ने पूरी बम्बई को घेर लिया था

  • गोडसे का अपराध अक्षम्य है मगर जागरूक नागरिकों को कम से कम एक बार गोडसे का अदालत में दिया गया बयान भी पढना चाहिये… अगर पूरे मुकदमे की कारवाही पढ़ी जाये तो ढेर सारी जानकारी मिल सकती है

  • अभी यू.पी. की 14 सीटों पर चुनाव शेष हैं फिर भी यू.पी. में कांग्रेस के प्रभारी महासचिव ज्योतिर्दित्य सिन्धिया अमेरिका उड़ गये…. हा… हा.. राहुल का क्या प्रोग्राम है?

  • मोदी ने यू.पी. में 31 रैलियां लेने के बाद सर्वाधिक 17 रैलियां बंगाल में ली… इसी से पता चलता है कि मोदी की वापसी में इन दोनों राज्यों का क्या महत्व है

  • कांग्रेस ने महाराष्ट्र में चुनाव प्रचार में राज ठाकरे और मनसे का समर्थन हासिल करने के बाद अब हाथ ऊंचे कर दिये…. संजय निरूपम कह रहा कि मनसे से कोई लाभ नहीं हुआ इसलिये उसे कांग्रेस-राकांपा गठजोड़ में लेने का कोई तुक नहीं… हा… हा… खाया पिया कुछ नहीं गिलास तोड़ा बारा आने

  • एक रैली में कमल हासन के जूते चप्पल अण्डे पत्थर क्या पड़े उसे औकात पता चल गई…. अब कह रहा आतंकवादी तो हर धर्म में होते हैं… यह भी कह रहा कि उसे गिरफ्तारी का डर नहीं… हा… हा… डर नहीं लगता तो अग्रिम जमानत क्यूं ले रहा?

  • कोलकाता में ईश्वर चन्द्र विासागर की मूर्ति तोडऩे वाले भाजपाई तो ममता दीदी के भगत निकले… मूर्ति के ठीक पास ममता का बहुत बड़ा चित्र लगा है मगर भाजपाईयों ने उसे हाथ तक नहीं लगाया… ममता को तो इन भाजपाईयों का सम्मान करना चाहिये… हा… हा…

  • रफैल मामले में सुप्रीम कोर्ट ने फैसला दिया था कि गुप्त दस्तावेजों की फोटो कोपी करना चोरी नहीं है… अब एक अन्य मामले में इसी सुप्रीम कोर्ट ने फैसला दिया है कि एसे दस्तावेज फोटो कोपी करना चोरी है… हा… हा…

One comment

  1. मनीष गुप्‍ता

    इंदिराजी ने आपात काल लगाने के बाद छवि बचाने के लिए उसे अनुश्‍ाासन पर्व का नाम दिया था। लोकतांत्रिक सरकार के चलते हुए मोदीजी के बयान की तुलना इंदिराजी के आपातकाल के अनुशासन से करना तर्कसंगत नही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.