भाजपा से तल्खी लेकिन आरएसएस पर नरम ममता, बोलीं- कार्यकर्ताओं को नहीं पसंद भाजपा

Mamta's shameful statement on the death of a minor girl, rape happened or became pregnant after affair?
Share

कोलकाता (एजेंसी)। ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी को कोयला घोटाला मामले में पूछताछ के लिए मंगलवार को समन जारी किया है। अब सीएम बनर्जी ने भाजपा पर हमला किया है। उन्होंने कहा, अगर मेरे परिवार को नोटिस मिलता हैतो हम कानूनी लड़ाई लड़ेंगे। हालांकि इन दिनों यह बेहद कठिन काम हो गया है। उन्होंने कहा, अगर यह साबित होता है कि मैंने किसी संपत्ति पर कब्जा किया या कब्जा करने में मदद की तो इसे तुरंत ढहाया जाए। भाजपा पर हमला बोलते हुए ममता बनर्जी ने आरएसएस का भी जिक्र किया।

ममता ने कहा, भाजपा का कहना है कि कोयला घोटाले का माल कालीघाट जाता है। उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया है तो क्या यह पैसा मां काली को जा रहा है? उन्होंने बताया कि उनका मकान कालीघाट में है जो कि रानी राशमोनी की जमीन पर है। वह यहां एक किराएदार की तरह हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र हमें ना तो कोई मदद दे रहा है और ना ही जीएसटी का मुआवजा दे रहा है। इस बात को लेकर जब मैं प्रधानमंत्री से मुलाकात करती हूं तो लोग कहते हैं कि सेटिंग करने गई हूं। लेकि न यह खूबी मुझमें नहीं है।

आरएसएस पर क्या बोलीं ममता : ममता बनर्जी ने कहा कि आरएसएस उतनी बुरी नहीं है। वहां भी बहुत सारे लोग हैं जो कि भाजपा के विचारों से इत्तेफाक नहीं रखते हैं। उन्होंने कहा कि बहुत सारे आरएसएस के कार्यकर्ता भाजपा को नहीं पसंद करते और वे जल्द ही सामने आएंगे। ममता पुलिस दिवस की पूर्व संध्या पर आयोजित कार्यक्रम में बोल रही थीं।

क्या हैं सियासी मायने : ममता की नजर 2024 के लोकसभा चुनाव पर है। हाल में भ्रष्टाचार के कई मामलों के चलते पार्टी की फजीहत भी हुई है। ऐसे में राष्ट्रीय स्तर पर भाजपा की काट तैयार करना ममता बनर्जी के लिए जरूरी हो गया है। विधानसभा चुनाव के दौरान भी ममता बनर्जी ने हिंदू कार्ड चला था। ऐसे में हो सकता है कि ममता इस बार फिर खुद को हिंदुओं की हितैषी बताने का प्रयास करें। ममता को पता है कि हिंदू वोट बैंक को लेकर भाजपा की असली ताकत आरएसएस के ही पास है। ऐसे में अगर आरएसएस से कुछ लोग भी भाजपा के खिलाफ होते हैं तो यह उसके लिए बड़ी चुनौती हो सकती है।


Share