फागण में ओला बहार, मेवाड़ में तेज हवा के साथ मूसलाधार, कुंभलगढ़ में 15 मिनट में बिछी ओलों की चादर, शिमला-मनाली सा आया नजर

Hail in Phangan, torrential downpour with strong wind in Mewar, a sheet of hail in Kumbhalgarh in 15 minutes, it looked like Shimla-Manali
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान में मंगलवार शाम राजसमंद, उदयपुर, नागौर समेत कई जिलों में बारिश के साथ ओले गिरे। मैदानी इलाकों और सड़कों पर ओलों की चादर बिछ गई। बारिश और ओलावृष्टि ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। मौसम विभाग ने दो दिन पहले ही बारिश और ओले गिरने का पूर्वानुमान दिया था। पश्चिमी विक्षोभ से मौसम में आए इस बदलाव का असर अजमेर, पाली, चित्तौडग़ढ़, प्रतापगढ़, टोंक समेत अन्य जिलों में देखने को मिला। इन जिलों में दोपहर आद आसमान में घने बादल छा गए और कई जगह बारिश हुई। मौसम के इस बदलाव से जहां तापमान में गिरावट होगी, वहीं सर्दी का असर भी बढ़ेगा।

अजमेर, राजसमंद, उदयपुर, पाली समेत कई जगह रबी की तैयार फसलों को काफी नुकसान पहुंचने की आशंका है। खेतों में सरसों की फसल कटकर पड़ी है तो गेहूं की फसल पककर खड़ी है। राजसमंद के कुम्भलगढ़ में करीब 15 मिनट तक ओले गिरे। मैदानी इलाकों में बर्फ की चादर बिछ गई।

आज यहां भी हो सकती है बारिश

मौसम विभाग ने अजमेर, अलवर, जयपुर, भीलवाड़ा, बांसवाड़ा, चित्तौडग़ढ़, झालावाड़, डूंगरपुर, प्रतापगढ़, राजसमंद और उदयपुर जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी करते हुए यहां आंधी के साथ बारिश और ओले गिरने की आशंका जताई है।

गर्मी से मिलेगी राहत : इससे पहले हनुमानगढ़ जिले को छोड़कर सभी शहरों में दिन का पारा 30 डिग्री से ऊपर रहा। जोधपुर, बाड़मेर, जालोर, डूंगरपुर, फलौदी में दिन का अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस से ऊपर रहा। सबसे अधिक तापमान बाड़मेर में 36.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ। जयपुर में आज दिन का अधिकतम तापमान 31.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। मौसम विभाग की माने तो बारिश-ओले गिरने से अब तापमान में गिरावट होगी और शहरों रात का तापमान 15 डिग्री सेल्सियस से नीचे जा सकता है।


Share