स्टेट हाईवे पर भी अब फास्टैग से कटेगा टोल, 2 हाईवे पर जुलाई से होगी शुरूआत, फिर 136 बूथ पर होगा लागू

स्टेट हाईवे पर भी अब फास्टैग से कटेगा टोल, 2 हाईवे पर जुलाई से होगी शुरूआत, फिर 136 बूथ पर होगा लागू
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)।  नेशनल हाईवे ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) की तर्ज पर अब राजस्थान में स्टेट हाईवे पर भी टोल के लिए आपको नकद पैसे नहीं देने पड़ेंगे। स्टेट हाईवे बनाने वाली एजेंसी राजस्थान स्टेट रोड डवलपमेंट कॉरपोरेशन लि. (आरएसएलडीसी) और रोड इंफ्रास्ट्रक्चर डवलेपमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ राजस्थान (आरआईडीसीओआर) ने भी फास्टैग के जरिए टोल वसूली की तैयारियां शुरू कर दी हैं। क्रस्रुष्ठष्ट ने जयपुर के दो स्टेट हाईवे से इसकी शुरूआत पायलट प्रोजेक्ट के तहत करने का फैसला किया है, जिसे जुलाई के अंत तक शुरू किया जाएगा। वहीं रिडकोर ने जुलाई अंत तक अपने सभी टोल बूथों पर फास्टैग सिस्टम शुरू करने की बात कही है।

राजस्थान में आरएसएलडीसी और आरआईडीसीओआर के कुल 51 स्टेट हाईवे हैं, जिनके कुल 136 टोल बूथ हैं। आरएसएलडीसी के एमडी संदीप माथुर की माने तो आरएसएलडीसी के बनाए स्टेट हाईवे पर फास्टैग का काम जुलाई से शुरू हो जाएगा। फिलहाल इसे जयपुर में जयपुर-भीलवाड़ा और जयपुर-जोबनेर हाईवे पर पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर शुरू किया जाएगा। एमडी ने बताया कि राजस्थान में आरएसएलडीसी के 37 स्टेट हाईवे है, जिन पर 105 टोल बूथ है। इन सभी टोल बूथ पर फास्टैग लगाने का काम इस साल के अंत तक पूरा हो जाएगा। इसी तरह रोड इंफ्रास्ट्रक्चर डवलेपमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ राजस्थान (रिडकोर) ने भी अपने सभी स्टेट हाईवे पर जुलाई तक फास्टैग लगाने पर काम शुरू करवा दिया है। रिडकोर अधिकारियों ने बताया कि जुलाई अंत तक रिडकोर के 14 स्टेट और 31 टोल बूथों पर इसे शुरू किया जाएगा।

नहीं बनवाना पड़ेगा दूसरा फास्टैग

इन हाईवे पर उसी फास्टैग से पैसा कटेगा, जो वर्तमान में लोगों की गाडिय़ों पर लगा है और नेशनल हाईवे पर काम आता है। स्टेट हाईवे के इन एजेंसियों ने एनएचएआई   से दो महीने पहले एक टाइअप किया था। इसमें फास्टैग लगाने और उनसे टोल टैक्स वसूली करने का समझौता हुआ था। टोल की दरें स्टेट हाईवे बनाने वाली एजेंसी जो वर्तमान में वसूल रही हैं वही वसूल किया जाएगा।


Share