आज के ‘अर्जुन’ को मिला कल का ‘तेंदुलकर’ बनने का ज्ञान, सचिन बोले- डगर कठिन है….

आज के 'अर्जुन’ को मिला कल का 'तेंदुलकर’ बनने का ज्ञान, सचिन बोले- डगर कठिन है....
Share

मुंबई (कार्यालय संवाददाता)। मुंबई इंडियंस के गेंदबाज अर्जुन तेंदुलकर को आईपीएल के मौजूदा सीजन में एक भी मैच में खेलने का मौका नहीं मिला। उनकी टीम 14 मैचों में 10 हार के बाद प्लेऑफ में नहीं पहुंच पाई और अंक तालिका में सबसे नीचे 10वें स्थान पर रही। यह लगातार दूसरा सीजन है जब अर्जुन को खेलने को मौका नहीं मिला। पिछले सीजन में उन्हें बेंच पर ही रहना पड़ा था। इस बार मौका नहीं मिलने के बाद सचिन तेंदुलकर ने बेटे अर्जुन को सफलता का मंत्र दिया है। उन्होंने कहा है कि यह डगर कठिन है। सफलता पाने के लिए मेहनत जारी रखनी होगी।

मुंबई ने पिछले सीजन में अर्जुन को 20 लाख और इस सीजन में 30 लाख रूपये में खरीदा था। सचिन लंबे समय से मुंबई की टीम के साथ हैं। तेंदुलकर मुंबई की टीम के पहले कप्तान थे। क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद से वो टीम के साथ मेंटर के रूप में जुड़े हुए हैं। उन्होंने कहा कि फ्रेंचाइजी में वो चयन मामलों में हस्तक्षेप नहीं करते हैं।

‘यह डगर कठिन और मुश्किल है’

सचिन ने एक शो  पर अर्जुन के बारे में बात की। उनसे यह पूछा गया कि क्या वो अर्जुन को इस सीजन में खेलते हुए देखना पसंद करते तो तेंदुलकर

ने कहा,  ‘यह सवाल अलग है। मैं इस बारे में क्या सोचता हूं और क्या महसूस करता हूं वह मायने नहीं रखता है। अब सीजन समाप्त हो चुका है। मैंने हमेशा अर्जुन से कहा है कि यह डगर कठिन और मुश्किल है।

मुंबई की चयन प्रक्रिया से अलग रहते हैं सचिन

तेंदुलकर ने आगे कहा,  मैंने उसे हमेशा कहा है कि तुमने क्रिकेट खेलना इसलिए शुरू किया है, क्योंकि तुम क्रिकेट से प्यार करते हो। ऐसा करना जारी रखना होगा। कड़ी मेहतन करो, नतीजे मिलेंगे।  अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 100 शतक लगा चुके सचिन ने चयन को लेकर भी बात की। उन्होंने कहा, जहां तक चयन का सवाल है तो मैं इसमें हस्तक्षेप नहीं करता हूं। मैं टीम प्रबंधन पर छोड़ देता हूं। मैंने हमेशा ऐसा ही किया है।

मुंबई के लिए खेलते हैं अर्जुन

अर्जुन घरेलू क्रिकेट में मुंबई की टीम से खेलते हैं। उन्होंने अब तक दो टी20 मुकाबले खेले हैं। इस दौरान दो विकेट अपने नाम किए हैं। उनका इकोनॉमी रेट काफी खराब है। अर्जुन ने 9.57 की इकोनॉमी रेट से रन दिए हैं।


Share