ये मेरी टीम है

this is my team
Share

संजू सैमसन को मौका नहीं मिलने पर हार्दिक पंड्या ने तोड़ी चुप्पी

नेपियर (एजेंसी)।  न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 सीरीज में भारत ने 1-0 से शानदार जीत हासिल की थी। इस टी20 सीरीज में संजू सैमसन और उमरान मलिक जैसे स्टार खिलाडिय़ों के प्लेइंग इलेवन में होने की उम्मीद थी। लेकिन यह उम्मीदें धरी रह गईं। सैमसन और उमरान मलिक को दोनों ही मुकाबलों में खेलने का मौका नहीं मिला। सैमसन को प्लेइंग-11 में नहीं शामिल करने को लेकर कुछ ज्यादा ही सवाल खड़े हुए हैं।

अब संजू सैमसन और उमरान मलिक जैसे प्लेयर्स को लेकर हार्दिक पंड्या ने भी चुप्पी तोड़ी है। इस टी20 सीरीज में भारतीय टीम के कप्तान रहे हार्दिक पंड्या ने कहा कि जिन्हें मौका नहीं मिला, उन्हें आने वाले समय में जरूर अवसर मिलेंगे। हार्दिक का मानना है कि बाहर कौन क्या कह रहा उससे उनको फर्क नहीं पड़ता।

मैं ज्यादा बदलाव नहीं करता: हार्दिक

हार्दिक पंड्या ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, पहली बात तो बाहर कौन क्या बोल रहा है उससे ये लेवल पर फर्क नहीं पड़ता। ये मेरी टीम है, कोच और मुझे जो ठीक लगेगा और जो साइड हमें चाहिए होगा, हम वही खिलाएंगे। बहुत समय है, सबको मौका मिलेगा और जब चांस मिलेगा तो लंबा मिलेगा। अगर बड़ी सीरीज होती, ज्यादा मैच होते तो जाहिर तौर पर मौके ज्यादा होते। ये छोटी सीरीज थी। मैं ज्यादा बदलाव में विश्वास नहीं करता हूं और आगे भी नहीं करूंगा।

पंड्या कहते हैं, जैसे मुझे सिक्स बॉलिंग ऑप्शन चाहिए था और वो चीज इस टूर में आया है। जैसे दीपक हुड्डा ने बॉल डाला है। थोड़ा-थोड़ा करके यदि ऐसे बल्लेबाज चिप करते रहेंगे, तो आपके पास नए बॉलर्स का प्रयोग करके विपक्षी टीम को सरप्राइज करने के बहुत सारे मौके होंगे।

उन्होंने आगे कहा, ईमानदारी से कहूं तो मैं चीजों को सरल बनाए रखता हूं। मैं एक मैच में कप्तानी करूं या श्रृंखला में, मैं अपने तरीके से टीम की अगुवाई करूंगा। जब भी मुझे मौका दिया गया तो मैंने वैसे ही क्रिकेट खेली जैसा मैं जानता हूं। बतौर कप्तान हार्दिक पंड्या की यह दूसरी टी20 सीरीज जीत है। इससे पहले उनकी अगुवाई में भारत ने जून महीने में आयरलैंड को 2-0 से हराया था।

पंत के बल्ले से निकले सिर्फ 17 रन

न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 सीरीज में विकेटकीपर बल्लेबाज संजू सैमसन की जगह ऋषभ पंत जैसे प्लेयर को प्लेइंग-11 में तवज्जो दी गई, जो बल्ले से दोनों पारियों में फ्लॉप रहे। पंत दूसरे टी20 मुकाबले में सिर्फ 6 रन बना पाए। उसके बाद नेपियर में हुए आखिरी टी20 मैच में उनके बल्ले से महज 11 रन निकले थे। सैमसन ने अपना आखिरी टी20 मैच विंडीज दौरे पर खेला था, उसके बाद से उन्हें मौके का इंतजार है।

संजू को 26 मैच खेलने का मिला है मौका

हालिया समय में संजू को काफी कम मौके मिले हैं। पहले ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका के खिलाफ टी20 सीरीज के लिए सैमसन को टीम में जगह नहीं मिली थी। उसके बाद एशिया कप और टी20 वल्र्ड कप के लिए संजू सैमसन के ऊपर ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक जैसे प्लेयर्स को तवज्जो दी गई। संजू सैमसन ने अबतक भारत के लिए 16 टी20 इंटरनेशनल में 21.14 की औसत और 135.15 के स्ट्राइक रेट से 296 रन बनाए हैं। वहीं वनडे इंटरनेशनल की बात करें तो संजू के नाम पर 73.50 के एवरेज से 294 रन दर्ज हैं।


Share