वार्ड पंच पति से 15 हजार की रिश्वत लेते ग्राम विकास अधिकारी पकड़ा- 5 नरेगा श्रमिकों के भुगतान के एवज में मागी थी

वार्ड पंच पति से 15 हजार की रिश्वत लेते ग्राम विकास अधिकारी पकड़ा- 5 नरेगा श्रमिकों के भुगतान के एवज में मागी थी
Share

उदयपुर. नगर संवाददाता & भ्र्रष्टाचार निरोधक ब्यूरों की स्पेशल यूनिट ने मंगलवार को बड़ी कार्यवाही करते हुए सलूंबर पंचायत समिति की गामड़ा के ग्राम विकास अधिकारी को 15 हजार रूपए की रिश्वत लेते पकड़ा है। आरोपी ग्राम विकास अधिकारी ग्राम पंचायत की वार्ड पंच के पति से यह रिश्वत नरेगा में काम करने वाले 5 श्रमिकों को भुगतान करने के एवज में ले रहा था।

ब्यूरों के एएसपी उमेश ओझा ने बताया कि सलूम्बर पंचायत समिति के गामड़ा पाल पंचायत के वार्ड पंच कमला मीणा के पति भैरूलाल पुत्र मनजी मीणा निवासी वार्ड नम्बर 8 गामड़ा पाल ने ब्यूरों में रिपोर्ट दी कि उसकी पत्नी कमला वार्ड पंच है, जिससे ग्राम विकास अधिकारी मुकेश मीणा हमारे वार्ड के निवाासी पांच नरेगा मजदूरों से नरेगा में करवए गए कार्य की मजदूरी देने के एवज में प्रति श्रमिक 3 हजार रूपए के हिसाब से 15 हजार रूपए माग रहा है। रिश्वत नहीं देने पर भविष्य में वार्ड में कोई विकास कार्य नहीं करवाने का डर दिखा रहा है। इस पर वार्ड पंच पति की ओर से ब्यूरों में शिकायत दी गई। इसका सत्यापन करवाया गया। सत्यापन होने पर ट्रेप का आयोजन किया गया।

एएसपी के निर्देशन में पुलिस निरीक्षक रतनसिंह राजपुरोहित, हैड कांस्टेबल अजय कुमार, कांस्टेबल नंद किशोर पण्ड्या, दिनेश कुमार और राजेश कुमार की टीम गांव में गई। जहंा पर जैसे ही परिवादी ने ग्राम विकास अधिकारी को पैसे दिए और टीम को ईशारा किया तो टीम ने दबिश देकर ग्राम विकास अधिकारी को दबोच लिया। जिसके पास से रिश्वत की 15000 रूपए बरामद किए। ब्यूरों की टीम ने इस प्रकरण में ग्राम विकास अधिकारी मुकेश पुत्र कालूलाल मीणा निवासी श्रीनाथ विहार जेल के पीछे प्रतापगढ़ को गिरफ्तार किया। जिससे पूछताछ की जा रही है।


Share