योगी से मिली ‘द कश्मीर फाइल्स’ की टीम, मुख्यमंत्री ने फिल्म की तारीफ, कहा’मजहबी कट्टरता व आतंकवाद की…’

The team of 'The Kashmir Files' met Yogi, the Chief Minister praised the film, said 'Religious bigotry and terrorism...'
Share

मुंबई (कार्यालय संवाददाता)। ‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म की स्टार कास्ट रविवार को गोमतीनगर के एक होटल में यूपी के कार्यवाहक सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। इसके बाद ‘द कश्मीर फाइल्स’ की टीम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की। इस दौरान फिल्म के डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री ने कहा कि यूपी मेरा प्रदेश है। हम यहीं के रहने वाले हैं।

उन्होंने कहा कि यह फिल्म सभी भारतीयों को जोडऩे का काम कर रही है। इसमें हिंदू-मुस्लिम-सिख-ईसाई सब शामिल हैं। फिल्म दिखाती है कि जब आतंकवाद किसी सोसायटी के अंदर घुसने लगता है और उसको बौद्धिक संरक्षण मिलता है, तो क्या होता है।

सीएम योगी का ट्वीट

दूसरी बार उत्तर प्रदेश के मुखिया बनने को तैयार योगी आदित्यनाथ के ट्विटर अकाउंट से एक तस्वीर शेयर की गई है। इस फोटो में योगी के साथ द कश्मीर फाइल्स की टीम नजर आ रही है। इस फोटो को शेयर करते हुए योगी ने अपने ट्वीट में लिखा, फिल्म द कश्मीर फाइल्स मजहबी कट्टरता व आतंकवाद की अमानवीय विभीषिका को निर्भीकता से प्रकट करती है। नि:संदेह यह चलचित्र समाज व देश को जागरूक करने का काम करेगा। ऐसी विचारोत्तेजक फिल्म निर्माण के लिए पूरी टीम को बधाई देता हूं।

– क्या बोले थे प्र.म. मोदी

सीएम योगी से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी फिल्म द कश्मीर फाइल्स की तारीफ कर चुके हैं। प्र.म. मोदी ने कहा था, इतनी बड़ी घटना…कोई फिल्म नहीं बना पाया क्योंकि सत्य को दबाने की लगातार कोशिश हुई है हमारे देश में। भारत विभाजन… जब हमने 14 अगस्त को एक हॉरर डे के रूप में याद करने के लिए तय किया तो कई लोगों को बड़ी परेशानी हो गई। कैसे भूल सकता है देश…कभी कभी उससे भी सीख मिलती है…भारत विभाजन में ऑथेन्टिक कोई फिल्म नहीं बनी है, और इसलिए इन दिनों आपने देखा होगा कश्मीर फाइल्स फिल्म की चर्चा चल रही है।

एक तरफ सत्य है, तो दूसरी तरफ असत्य : विवेक

विवेक ने कहा कि अभी समाज सत्य और असत्य के बीच बंटा हुआ है। एक मानवता में विश्वास रखते हैं, जो हिंसा के खिलाफ रहते हैं। दूसरे लोग टेररिज्म का सपोर्ट करते हैं। वह लोग पिक्चर नहीं देखते, बल्कि इसके खिलाफ प्रोपेगेंडा फैलाते हैं। फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन के सवाल पर उन्होंने कहा कि वह इसका 100 फीसदी समर्थन करते हैं। उन्होंने कहा कि मैं तो हेट स्पीच का भी समर्थन करता हूं। लोगों को बात रखने का अधिकार देना चाहिए।

विवेक अग्निहोत्री ने कहा कि आज जो लोग कश्मीरियों को पहचानते नहीं थे, अब वही लोग इसको सराह रहे हैं। 32 साल बाद यह कहानी हम लोग आप लोगों के सामने लेकर आए हैं। क्या 84 पर भी फिल्म बनाएंगे? इसके जवाब में उन्होंने कहा कि 84 पर कई फिल्में बन चुकी हैं। विवेक अग्निहोत्री ने बताया कि हमने दिल्ली फाइल पर फिल्म बनाने का फैसला किया है, उसमें 84 के दंगों का जुड़ाव है।


Share