हाथों-हाथ हो रहा समस्याओं का निस्तारण, मिल रहा है विभिन्न योजनाओं का लाभ – ‘प्रशासन गांवों के संग अभियान’

प्रशासन शहरों के संग अभियान में पहले दिन 400 शहरवासियों को बांटे पट्टे
Share

उदयपुर (वि)। राज्य सरकार के निर्देशानुसार जिले में प्रशासन गांवों के संग अभियान के दूसरे दिन मंगलवार जिले की 11 ग्राम पंचायतों में शिविर आयोजित हुए। इन शिविरों में ग्रामवासियों के लम्बित प्रकरणों के साथ आधारभूत सुविधाओं से जुड़ी समस्याओं व शिकायतों का हाथों-हाथ निस्तारण किया जा रहा है। जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने बताया कि मंगलवार को कुराबड़ पंचायत समिति की ग्राम पंचायत कुराबड़, बडग़ांव की भुताला, मावली की जैवाणा, भींडर की धावडिय़ा, गोगुंदा की कुकड़ाखेड़ा, फलासिया की बिरोठी, झल्लारा की झरमाल, नयागांव की असारीवाड़ा, सेमारी की घोड़ासर, ऋषभदेव की कटेव तथा कोटड़ा पंचायत समिति की ग्राम पंचायत तेजा का वास में शिविरों का आयोजन हुआ।

असारीवाड़ा में बांटे पट्टे व पीपीओ

उदयपुर जिले के उपखण्ड खेरवाडा की पंचायत समिति नयागाँव की ग्राम पंचायत असारीवाडा में पंचायत समिति सदस्य पन्नालाल परमार के मुख्य आतिथ्य एवं उपखण्ड अधिकारी प्रमोद सीरवी की अध्यक्षता में आयोजित शिविर में क्षेत्रवासियों को विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित किया गया। अतिथियों ने शिविर में 22 आवासीय पट्टे, 46 वृद्धावस्था पेन्शन के पीपीओ व 13 जोब कार्ड, दो सामुदायिक पट्टों का वितरण किया। दो पालनहार में स्वीकृति जारी की गई। मुख्य ब्लाँक शिक्षा अधिकारी प्रकाश चन्द्र जैन ने शिविर में राजकीय माध्यमिक विद्यालय राणावाडा का भूमि इन्द्राज दुरस्ती,राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय रेटा के भूमि का पट्टा जारी करवाया।

आज इन पंचायतों में होंगे शिविर

वहीं बुधवार 10 नवंबर को सायरा की भानपुरा, झाड़ोल की माणस, सलूंबर की थड़ा, खेरवाड़ा की कातरवास, जयसमंद की नईझर, ऋषभदेव की पादेड़ी, कोटडा की मेवाड़ों का मठ तथा लसाडिया की बलीचा पंचायत में शिविर आयोजित होगा

जीवता रीजो भाया-बुढ़ापा में- आसरों वेई ग्यो

जैवाणा की नारायणी बाई के लिए शिविर वरदान साबित हुआ। 71 वर्ष की उम्र में वृद्धावस्था पेंशन स्वीकृति आदेश जारी होने पर नारायणी बाई के चेहरे पर खुशी झलक रही थी और वह मुख्यमंत्री सहित सरकार व प्रशासन को यहीं आशीष दे रही थी कि ‘जीवता रीजो भाया-बुढ़ापा में आसरों वेई ग्यो’। मावली पंचायत समिति की ग्राम पंचातय जैवाणा में आयोजित शिविर में श्रीमती नारायणी बाई/घीसा को पूर्व में वृद्धावस्था पेंशन योजना की जानकारी नहीं होने से पूर्व में कभी आवेदन नहीं किया था।

पूरा हुआ 40 वर्षों का ‘इंतजार’, चार परिवारों को मिला आवासीय पट्टा

बडग़ांव पंचायत समिति के भूताला गांव में  40 साल से चार परिवार आवासीय पट्टा मिलने की बाट जोह रहे थे। पट्टा नहीं होने की वजह से चारों परिवार हर दिन अपने भविष्य को लेकर आशंकित रहते थे, लेकिन इन चारों परिवारों को मंगलवार को आवासीय पट्टा मिला, तो इनकी खुशी से आंखें छलछला उठी। बडग़ांव बीडीओ केदार वैष्णव ने बताया कि शिविर में देवीलाल जोशी, प्रेमशंकर जोशी, वेणीलाल जोशी और भैरूलाल जोशी को पट्टा सौंपा गया। ये चारों परिवार करीब 40 साल से आवासीय पट्टे के बिना ही रह रहे थे। शिविर के दौरान 9 परिवारों को जॉब कार्ड जारी किए गए।


Share