कोरोना के नये वेरिएंट से बाजार में भूचाल

कोरोना के नये वेरिएंट से बाजार में भूचाल
Share

कोरोना के नये वेरिएंट से बाजार में भूचाल

सेंसेक्स 1688 अंक लुढ़क 3 माह के निचले स्तर पर

मुंबई (कार्यालय संवाददाता)। अफ्रीकी देशों के साथ साथ दुनिया के कई देशों में कोरोना के नये वेरिएंट की आहट से सहमे निवेशकों की भारी बिकवाली से वैश्विक बाजार की गिरावट के दबाव में आज चौतरफा मुनाफावसूली से घरेलू शेयर बाजार लगभग तीन प्रतिशत लुढ़ककर एक सितंबर के बाद के निचले स्तर पर आ गया। दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस के एक नए वेरियेंट का पता लगने के बाद पूरी दुनिया सतर्क हो गयी है। दक्षिण अफ्रीक, बोत्सवाना के अलावा हांगकांग में भी इस नये वेरियेंट के मरीज मिल रहे हैं। नये वैरिएंट के सामने आने के बाद फिर से लॉकडाउन लगाये जाने का खतरा बढ़ सकता है। ऐसे में अफ्रीकी देशों से हवाई सेवाएं स्थगित करने का सिलसिला शुरू हो चुका है। इजराइल ने सात और ब्रिटेन ने छह अफ्रीकी देशों से आवाजाही पर रोक लगा दी है।

इन खबरों के बाद अंतर्राष्ट्रीय बाजार ढाई प्रतिशत से अधिक टूट गया। ब्रिटेन का एफटीएसई 2.79 प्रतिशत, जर्मनी का डैक्स 2.72 प्रतिशत, जापान का निक्केई 2.53 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसैंग 2.67 प्रतिशत और चीन का शंघाई कंपोजिट 0.56 प्रतिशत लुढ़क गया।

वैश्विक बाजार में मचे हाहाकर से निवेशकों ने स्थानीय स्तर पर इंडसइंड बैंक, मारूति, रिलायंस, टाटा स्टील समेत 28  कंपनियों में जबरदस्त बिकवाली की, जिससे बीएसई का संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 1687.94  अंक की भारी गिरावट के साथ करीब तीन माह के निचले स्तर 57,107.15 अंक पर आ  गया। इससे पहले 01 सितंबर को सेंसेक्स 57338.21 अंक पर बंद हुआ था। इसी  तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 509.80 अंक का गोता लगाकर 17,026.45 अंक पर रहा।

एनएसई के आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने करीब 2300 करोड़ रूपये के शेयर बेचे हैं।  वहीं घरेलू निवेशक इस बिकवाली की तुलना में बहुत ही कम खरीददारी कर रहे  हैं, जिससे शेयर बाजार की गिरावट बढ़ती जा रही है।

बीएसई की बड़ी कंपनियों की तरह छोटी और मझौली कंपनियों में भी बिकवाली हावी रही। इस दौरान मिडकैप 828.90 अंक टूटकर 24,846.51 अंक और स्मॉलकैप 751.34 अंक का गोता लगाकर 28,071.41 अंक पर आ गया। बीएसई में कुल 3415 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ, जिनमें से 2244 में बिकवाली जबकि 1067 में लिवाली हुई वहीं 104 के भाव स्थिर रहे। एनएसई में 46 कंपनियां लाल जबकि केवल चार हरे निशान पर बंद हुईं।

बीएसई में हेल्थकेयर समूह की 1.18 प्रतिशत की बढ़त को छोड़कर शेष 18 समूहों में भारी गिरावट रही। बेसिक मैटेरियल्स 4.03, सीडीजीएस 3.40, ऊर्जा 3.33, एफएमसीजी 1.77, वित्त 3.56, इंडस्ट्रियल्स 3.92, आईटी 1.77, दूरसंचार 3.58, यूटिलिटीज 3.16, ऑटो 4.28, बैंङ्क्षकग 3.55, कैपिटल गुड्स 3.61, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स 3.50, धातु 5.36, तेल एवं गैस 3.73, पावर 2.86, रियल्टी 6.42 और टेक समूह के शेयर 2.02 प्रतिशत लुढ़के।

सेंसेक्स 540 अंक की गिरावट के साथ 58,254.79 अंक पर खुला और यही दिवस का उच्चतम स्तर भी रहा। इसके बाद लगातार हुई बिकवाली से 56,993.89 अंक के निचले स्तर तक लुढ़क गया। अंत में 58,795.09 अंक के मुकाबले 2.87 फीसदी टूटकर 58 हजार के मनोवैज्ञानिक स्तर से नीचे 57,107.15 अंक पर रहा। निफ्टी करीब 198 अंक गिरकर 17,338.75 अंक पर खुला और सत्र के दौरान 17,355.40 अंक के उच्चतम और 16,985.70 अंक के न्यूनतम स्तर पर भी रहा। अंत में 17,536.25 अंक की तुलना में 2.91 फीसदी का गोता लगाकर 17,026.45 अंक पर आ गया।


Share