नए संसद भवन की सज्जा में दिखेगी देश की विविधता, सांस्कृतिक विविधता और परंपरा को कलाकृतियों के जरिये सहेजा जाएगा

नए संसद भवन की सज्जा में दिखेगी देश की विविधता, सांस्कृतिक विविधता और परंपरा को कलाकृतियों के जरिये सहेजा जाएगा
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। नए संसद भवन में भारत की विविधता एवं भव्यता देखने को मिलेगी। नई इमारत के प्रवेश द्वार पर एक पारंपरिक प्रतिमा स्थापित की जाएगी। संसद भवन में संवैधानिक वीथिका (गैलरी) होगी, जिसमें भारतीय लोकतंत्र की यात्रा को प्रदर्शित किया जाएगा। इमारत की आंतरिक सज्जा में देश की सांस्कृतिक विविधता और परंपरा को कलाकृतियों के जरिये सहेजा जाएगा।

केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय ने नई इमारत की आंतरिक सज्जा की योजना बनाने के लिए तीन समितियों का गठन किया है। नई इमारत में कलाकृतियों, पेंटिंग, भित्तिचित्र और लेखों के जरिये भारतीय समाज की विविधता को प्रदर्शित किया जाएगा। इन समितियों में शिक्षाविद, इतिहासकार, कलाकार, संस्कृति और शहरी विकास मंत्रालयों के कई विशेषज्ञ और अधिकारी शामिल हैं, जो परिसर को सजाने के लिए संसाधन, निगरानी और कलाकृतियों को स्थापित करने का कार्य करेंगे। सूत्रों ने बताया, इनमें से एक समिति सलाहकार समिति है। इसे नए संसद भवन में कलाकृतियां लगाने और अनुसंधान की जिम्मेदारी दी गई है। मोटे तौर पर ढांचे के छह हिस्सों को सजाने के लिए कलाकृतियों पर विचार किया जाएगा।

इनमें द्वारों पर द्वारपालों की मूर्तियां, संविधान वीथिका, भारत की विविधतापूर्ण संस्कृति को प्रदर्शित करने वाली विथिका आदि हांगी। दो समितियों की अध्यक्षता संस्कति सचिव गोविंद मोहन और इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र के सदस्य सचिव सच्चिदानंद जोशी कर रहे हैं। एक समिति के वरिष्ठ सदस्य ने बताया, नई संसद भारत की संस्कृति और विविधता को प्रदर्शित करेगी। यह इमारत भारत की प्रकृति को प्रदर्शित करेगी, जिससे हर भारतीय खुद को जुड़ा हुआ महसूस करे।


Share