सूरज की सबसे नजदीकी तस्वीर, 7.40 करोड़ किमी दूर से ही दिखने लगीं लपटें

The closest picture of the sun, flames were visible from 740 million km away
Share

वॉशिंगटन (एजेंसी)। सूरज की अब तक ली गई सबसे करीब तस्वीर सामने आई है। इसमें सूरज की फुल डिस्क इमेज यानी पूरे गोले की तस्वीर दिख रही है। इसे नासा और यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी (ईएसए) के सोलर ऑर्बिटर ने 7 मार्च को लिया है। इस तस्वीर को तब लिया गया, जब सूरज तारे से 7.40 करोड़ किमी की दूरी पर था।

सूरज पर अलग-अलग गैस मौजूद हैं

सूरज पर मौजूद अलग-अलग गैस का अलग-अलग तापमान होता है। कैप्चर की गई तस्वीरों में पर्पल रंग का गोला हाइड्रोजन गैस को दर्शा रहा है। इसका तापमान 10 हजार डिग्री सेल्सियस है। नीला गोला कार्बन को दर्शाता है, इसका तापमान 32 हजार डिग्री सेल्सियस है। हरा रंग ऑक्सीजन गैस को दर्शा रहा है। यह 3.20 लाख डिग्री सेल्सियस गर्म है। पीला गोला नियॉन गैस को दर्शा रहा है, जिसका तापमान 6.30 लाख डिग्री सेल्सियस है।

50 साल में पहली बार ली गई ऐसी तस्वीर

तस्वीर को स्पेक्ट्रल इमेजिंग ऑफ द कोरोनल एनवायरमेंट (एसपीआईसीई) नाम के पेलोड ने कैप्चर किया है, जो सोलर ऑर्बिटर पर लगा है। यह सूरज के सबसे नजदीक पहुंचकर 50 सालों में पहली बार ली गई तस्वीर है। इस तस्वीर की खास बात ये है कि इसने सूरज के हाइड्रोजन गैस से निकले अल्ट्रावॉयलेट रेज के लीमैन-बीटा वेवलेंथ को कैप्चर किया है।

ईएसए-नासा के सोलर ऑर्बिटर ने 4 घंटे में खींची फोटोज

वैज्ञानिकों का कहना है कि यह 25 तस्वीरों की एक मोजेक है, जब आर्बिटर पृथ्वी और सूरज के बीच से निकल रहा था। इसमें आउटर एटमोस्फियर और कोरोना एक साथ दिख रहे हैं। इस तस्वीर को लेने में चार घंटे से ज्यादा समय लगा है। क्योंकि इस तस्वीर की हर टाइल्स को बनने में करीब 10 मिनट का समय लगा है। इसमें हर जगह छोटी-छोटी अनगिनत लपटें उठती दिखाई दे रही हैं जिसे भविष्य में अंतरिक्ष मौसम की भविष्यवाणी में मदद करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।


Share