पहाड़ों की नगरी ने लगाई हैट्रिक, राष्ट्रपति देंगे स्वच्छता अवार्ड- प्रदेश की एक मात्र निकाय

पहाड़ों की नगरी ने लगाई हैट्रिक, राष्ट्रपति देंगे स्वच्छता अवार्ड- प्रदेश की एक मात्र निकाय
Share

डूंगरपुर (प्रात:काल संवाददाता)। देश में दक्षिणी राजस्थान की एक छोटी निकाय ने स्वच्छता के क्षेत्र में किए गए बड़े प्रयासों के बलबूते मरुधरा को रोशन किया है। प्रदेश से एकमात्र डूंगरपुर निकाय स्वच्छता के क्षेत्र में उपलब्धि हासिल कर पाई है। स्वच्छता के महासर्वेक्षण में डूंगरपुर निकाय ने बड़ी उपलब्धि हासिल करते हुए देश के 4242 निकायों में अपना दबदबा कायम रखा और राज्य की 212  निकयो को पछाडते हुए स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 में दो अवार्ड से सम्मानित होने वाली है। राजस्थान की एक मात्र गारबेज फ्री स्टार सिटी बन कर राजस्थान का गौरव बढ़ाया वही स्वच्छता हेतु भी डूंगरपुर निकाय को सम्मानित किया जाएगा। सर्वेक्षण के नतीजे 20 तारीख को घोषित किये जायेगे और देश की राजधानी में विज्ञान भवन में आयोजित होने वाले काय्र्रक्रम में महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद स्वच्छता के क्षेत्र में कार्य करने वाली निकयो को सम्मनित करेंगे। गुरूवार को नई दिल्ली से शहरी विकास मंत्रालय के सयुक्त सचिव एवं मिशन निदेशक रूपा मिश्रा ने स्वायत शासन विभाग राजस्थान और डूंगरपुर निकाय को पत्र भेज कर दिल्ली आने का निमंत्रण भेजा है जिसमे प्रदेश की एक मात्र डूंगरपुर निकाय को दो अवार्ड से सम्मानित करने की बात कही गयी है। स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 में हमारी निकाय को दो अवार्ड से सम्मानित किया जायेगा सभापति अमृत कलासुआ के नेतृत्व वाले बोर्ड ने सबका साथए सबका विकास और सबका प्रयास के दृढ इरादों से डूंगरपुर के भाल पर गौरव के रूप में स्वच्छता का तिलक लगा दिया है। डूंगरपुर निकाय को लगातार स्वच्छता सर्वेक्षण में ये तीसरी बार देश की राजधानी में पुरस्कृत  किया जाएगा। परिषद् के सहायक अभियंता विकास लेघा, ने स्वच्छता के एक-एक बिंदु एवं एक-एक अंक पर बारीकी से काम किया इन्होंने परिषद् कार्मिकों के साथ दिन-रात एक कर के सर्वेक्षण के 6 हजार अंको की तैयारी की एक-एक डॉक्यूमेंट अपलोड़ करना ओर स्वच्छता के अन्य कार्यो पर शत प्रतिशत कार्य कर के नगर परिषद् को एक बार फिर गौरवान्वित किया।

मेहनत रंग लाई

डूंगरपुर निकाय द्वारा स्वच्छता को डूंगरपुर की जमीं पर सौ प्रतिशत लागू करने के लिए नित नए नवाचार और टीम परिषद की मेहनत रंग लाई। स्वच्छता के लिए अभूतपूर्व जनजागरूकता हौंसला बनी और डूंगरपुर के जर्रे जर्रे में स्वच्छता के रंग बिखेरे गए। डूंगरपुर में स्वच्छता के क्षेत्र में किए गए कार्यो में सबसे बड़ी उपलब्धि यह रही कि धरातल पर स्वच्छता लागू करने के साथ साथ परिषद जनमानस में स्वच्छता को स्थापित करने में कामयाब रही। स्वच्छता को शहर में लागू करने को लेकर पहले ही दिन से सभापति अमृत कलासुआ और आयुक्त नरपतसिंह ने स्वच्छता पर स्वयं मॉनिटरिंग की और प्रतिदिन वार्डो में निरीक्षण करना और प्रत्येक समस्या का त्वरित निवारण पर जोर दिया आज उसी का नतीजा है कि डूंगरपुर निकाय प्रदेश की एक मात्र निकाय बनी है जो तीसरी बार देश की राजधानी में स्वच्छता का अवार्ड प्राप्त करेगी। अवार्ड की सूचना के बाद सभापति अमृत कलासुआ,आयुक्त नरपतसिंह राजपुरोहित, उपसभापति सुदर्शन जैन व पार्षद नीलू रोत ने सफाई कर्मचारियों के साथ इस अवार्ड की खुशिया बांटी। सभापति ने परिषद के सभागार में सफाई कर्मचारियों को इस अवार्ड की घोषणा की जानकरी दी और कहा कि दिवाली के बाद एक बार फिर दिवाली जैसी खुशिया हमारे पास आयी है और इसका पूरा श्रेय आप सभी को जाता है। नगरपरिषद आयुक्त नरपतसिंह राजपुरोहित ने तीसरी बार देश की राजधानी में सम्मानित होने पर सफाई कर्मचारियों से कहा कि ये इस अवार्ड के असली हकदार समस्त शहरवासी है।   आयुक्त ने बताया कि इस बार का सर्वेक्षण 6000 अंकों था और हमें इस बार कितने अंक मिले है उसकी जानकारी 20 नवम्बर को मिलेगी इस बार का सर्वेक्षण चार केटेगरी में हुआ था जिसमे 2400 अंक सर्विस लेवल प्रोग्रेस के थे वही 1800-1800 नंबर सर्टिफिकेट डॉक्यूमेंट और सिटीजन फीडबैक के थे।


Share