प्रतापमय हुआ शहर, शोभायात्रा में दिखा शौर्य

प्रतापमय हुआ शहर, शोभायात्रा में दिखा शौर्य
Share

उदयपुर। प्रात: स्मरणीय महाराणा प्रताप की जयंती पर गुरुवार को शहर में भव्य शोभायात्रा निकाली गई जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने उपस्थित रह कर मेवाड़ शिरोमणी महाराण प्रताप को न सिर्फ नमन किया बल्कि उनके आदर्शों को जीवन में अपनाने का भी प्रण लिया। मेवाड़ क्षत्रिय महासभा की ओर से मोती मगरी से टाउन हॉल तक निकाली गई भव्य शोभायात्रा में कई रंग देखने को मिले। प्रताप की प्रतिमा पर जगह-जगह पुष्पवर्षा कर लोगों ने आशीर्वाद लिया तो शौर्य प्रदर्शन से स्वाभिमान की रक्षा का संदेश भी दिया गया। राणा की जय-जय शिवा की जय-जय, जय राणा प्रताप की, मायड़ थारो वो पूत कठै की गूंज सुनाई दी।  शोभायात्रा के बाद टाउन हॉल स्थित ऑडिटोरियम में  क्षत्रिय महासभा उदयपुर एवं नगर निगम उदयपुर के साझे में सर्व समाज व संगठनों की ओर से जयंती समारोह का आयोजन किया गया। इसमें बालूसिंह कानावत केंद्रीय अध्यक्ष मेवाड़ क्षत्रिय महासभा, खास औदी संत प्रयागगिरी अवधूत महाराज, लवदेवसिंह जिलाध्यक्ष मेवाड़ क्षत्रिय महासभा उदयपुर चंद्रवीरसिंह करेलिया अध्यक्ष मेवाड़ क्षत्रिय महासभा उदयपुर शहर, जनता सेना संरक्षक मांगीलाल जोशी, संरक्षक तेजसिंह बान्सी, डॉ. प्रदीप कुमावत डायरेक्टर आलोक संस्थान, कांग्रेस देहात अध्यक्ष लालसिंह झाला, गोपाल कृष्ण शर्मा कांग्रेस शहर अध्यक्ष सहित विभिन्न समाजों, समुदायों के समाजजन मंचासीन होने वालो की सूची में शामिल थे। वक्ताओं ने महाराणा प्रताप का मंदिर शीघ्र बनावाने, प्रताप के स्थलों के सरंक्षण, महाराणा प्रताप की विश्व पलट पर अजेय यौद्धा व युगों-युगों तक प्रेरणा स्रोत के रूप में उपस्थिति, प्रताप के युद्ध कौशल व सर्व समाज, राष्ट्र के प्रति अगाध प्रेम आदि पर वक्ताओं ने विचार रखे। इधर, होटल एसोसिएशन की ओर से चेतक सर्कल पर प्रताप जयंती शोभायात्रा का पदाधिकारियों ने पुष्प वर्षा कर भव्य स्वागत किया व प्रताप की प्रतिमा को सादर नमन किया। ,सेन समाज विकास संस्था उदयपुर द्वारा महाराणा प्रताप की 482 वी जयंती के अवसर पर समाज अध्यक्ष राजेंद्र सेन के नेतृत्व में मेवाड़ क्षत्रिय महासभा एवं सर्व समाज द्वारा निकाली गई शोभायात्रा में शामिल बंधुओं का मार्शल चौराहे पर छाछ पिला कर पुष्प वर्षा कर भव्य स्वागत किया गया। सेन महिला संगठन की महामंत्री गीता सेन, रमा सेन ,निरू सेन समाज के उपाध्यक्ष बाल कृष्ण वर्मा , महामंत्री डॉक्टर ओम प्रकाश बार्बर,ललित सेन ,तुलसीराम सेन आदि मौजूद रहे।

विश्व भाषा अकादमी की राजस्थान शाखा में प्रताप की तस्वीर पर पुष्पांजलि का आयोजन गया। समारोह में डॉ. चंद्रेश कुमार छतलानी, रीना मेनारिया व अन्य सदस्यों ने पुष्पांजलि अर्पित कर प्रताप का स्मरण किया।

मेवाड़ राजपूत समाज सेवा संस्थान गोवर्धन विलास उदयपुर द्वारा चेतक चौराहे पर  रैली का स्वागत व अभिनंदन किया तथा पुष्प वर्षा की।  प्रवक्ता  करण सिंह चौहान ने बताया कि  अध्यक्ष यशवंत सिंह चौहान, सीनेट अध्यक्ष हरि सिंह चौहान, उपाध्यक्ष हरि सिंह भाटी आदि मौजूद थे।

पार्षद हिदायतुल्ला के नेतृत्व में प्रताप-हकीम-पूंजा मित्रसंघ द्वारा  शोभा यात्रा एवं कांग्रेस सेवादल की और से निकाले गये जुलुस का फतह सागर किनारे गर्म जोशी से गुलाब के फूल बरसाकर स्वागत किया गया।

महाराणा प्रताप गाइड एसोसिएशन और पर्यटन विभाग के संयुक्त तत्वावधान में फतह मेमोरियल सराय में महाराणा प्रताप की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

महाराणा प्रताप सेना द्वारा प्रात: चित्रकूट नगर भुवाणा से  विशाल रैली प्रारंभ की जो कि विभिन्न क्षेत्रों से होती हुई मोती मंगरी पहुँची। चेतक सर्किल से मेवाड़ क्षत्रिय महासभा के साथ सम्मिलित होकर एक विशाल शोभायात्रा निकाली गई जो विभिन्न क्षेत्रों से होती हुई नगर निगम टाउन हॉल पहुँची। शोभायात्रा में मुख्यत: संस्थापक मोहन सिंह राठौड़, कान सिंह राणावत, करन सिंह शक्तावत, दलपतसिंह मोजावत, प्रमोद सिंह राव, रंजीत सिंह राठौड़, अजय भाई, राहुल वैष्णव, अजय सिंह पंवार आदि मौजूद थे।

महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौद्य़ोगिकी विश्वविद्यालय उदयपुर के छात्र कल्याण निदेशालय के तत्वावधान में  राजस्थान कृषि महाविद्यालय परिसर में स्थित महाराणा प्रताप की रणाभूषणों से सुसज्जित अश्वारूढ प्रतिमा के समक्ष पुष्पाजंलि दी गई। राजस्थान कृषि महाविद्याालय परिसर में स्थित महाराणा प्रताप की प्रतिमा के समक्ष विश्वविद्यालय कुलपति डॉ. नरेन्द्र सिंह राठौड़, अधिष्ठाता आरसीए, निदेशक अनुसंधान, निदेशक प्रसार शिक्षा, निदेशक आयोजना एवं परिवेक्षण, एवं वरिष्ठ अधिकारियों ने महाराणा प्रताप को पुष्पाजंलि अर्पित करते हुए स्मरण किया।

महाराणा प्रताप अकादमी डबोक की ओर से डबोक स्थित महाराणा प्रताप एयरपोर्ट पर स्थापित प्रताप की प्रतिमा पर पुष्पांजली सभा एवं सम्मान समारोह का आयोजन गया। आयोजन सचिव भरत भानू सिंह देवडा ने बताया कि समारोह के मुख्य अतिथि जनार्दनराय नागर राजस्थान विद्यापीठ डीम्ड टू बी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एस.एस. सारंगदेवोत, अध्यक्षता ललित पालीवाल, निर्भय सिंह देवडा, भगवती लाल पाटीदार, अशोक कोठारी , भरत सोनी, विक्रम सिंह देवडा, मनीष कोठारी, मनोहर सिंह कितावत, अशोक सोनी सहित कार्यकर्ताओं ने प्रताप को पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें नमन किया। इस अवसर पर विभिन्न क्षेत्रो में उल्लेखनीय कार्य करने वालों का सम्मान किया गया। प्रो. सारंगदेवोत ने कहा कि प्रताप ने अपनी आन बान के लिए जीवन भर संघर्ष करते रहे लेकिन अपने आदर्शों, मूल्यों एवं सिद्धांतों से कभी समझौता नहीं किया।

अधिकतर भाजपाई नहीं गए शोभायात्रा में

क्षत्रिय महासभा की ओर से निकाली गई शोभायात्रा में शहर विधायक गुलाबचंद कटारिया को नहीं बुलाने से अधिकांश भाजपा नेता नहीं गए। भाजपाईयों ने रातों रात राणा प्रताप स्टेशन पर एक कार्यक्रम का आयोजन कर दिया। इसमें कटारिया ने स्टेशन पर स्थित महाराणा प्रताप को पुष्पाजंलि अर्पित की। सुबह करीब 7.30 बजे शुरू हुआ यह कार्यक्रम करीब दो-ढाई घंटे चला और इसमें भाजपा के अधिकांश नेता उपस्थित थे। वहीं दोपहर को निकाली रैली में भी अधिकांश भाजपा नेता नहीं गए।

कुछ लोग कर रहे है राजनीति : शक्तावत

इससे पहले बुधवार शाम को प्रतापनगर में सहकार भवन में आयोजित पुष्पांजलि कार्यक्रम में भाजपा नेता प्रेम सिंह शक्तावत ने जमकर निशाना साधा था। शक्तावत ने कहा कि कटारिया ने माफी तक मांग ली थी, लेकिन कुछ लोग जो राजनीति कर रहे है वे ही गुमराह कर रहे है। शक्तावत ने कहा कि कटारिया ने मंत्री-विधायक रहते हुए महाराणा प्रताप से जुड़े स्थलों का जमकर विकास करवाया था और इतना काम तो उदयपुर में किसी नेता या मंत्री ने नहीं करवाया। गौरतलब है कि प्रेम सिंह शक्तावत पूर्व में महाराणा प्रताप जयंति पर निकलने वाली शोभायात्रा और कार्यक्रम के संंयोजक थे, जिन्होंने कटारिया का बहिष्कार करने पर इस्तीफा दे दिया था।


Share