द. अफ्रीका दौरा & विराट और कोच राहुल ने की जमकर मस्ती, द्रविड़ सर की क्लास के साथ शुरू हुई टीम इंडिया की प्रैक्टिस, विराट को तनाव से निकाल रहे है द्रविड़

Share

सेंचुरियन (एजेंसी)। 26 दिसंबर से भारत और साउथ अफ्रीका के बीच 3 मैचों की टेस्ट सीरीज का आगाज होने जा रहा है। दोनों टीमों के बीच पहला मुकाबला सेंचुरियन में खेला जाएगा। लगातार सामने आ रही विवाद की खबरों के बीच कोहली एंड कंपनी ने शनिवार को साउथ अफ्रीका दौरे पर अपने पहले प्रैक्टिस सेशन में भाग लिया। अभ्यास के दौरान टेस्ट कप्तान विराट के अलावा सभी खिलाड़ी जमकर पसीना बहाते नजर आए।

साउथ अफ्रीका की पिच स्विंग, गति और उछाल के लिए जानी जाती है। यहां टीम इंडिया के बल्लेबाज बहुत संघर्ष करते हैं, लेकिन इस बार टीम खेल के हर डिपार्टमेंट में काफी मजबूत नजर आ रही है। ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड की पिचों पर भारतीय टीम ने टेस्ट क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन कर सभी को खासा प्रभावित किया है। अफ्रीकी पिचों पर टीम जोरदार खेल दिखाने के लिए बेताब रहेगी।

बल्लेबाजों से रहेगी उम्मीद

चोटिल रोहित शर्मा की गैरमौजूदगी के अलावा चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे की खराब फॉर्म टीम इंडिया के लिए चिंता का विषय हो सकती है। ऐसे में अगर साउथ अफ्रीका में सीरीज जीतनी है, तो कैप्टन कोहली के साथ-साथ नई ओपनिंग जोड़ी मयंक अग्रवाल और केएल राहुल के कंधों पर अच्छे प्रदर्शन का दबाव रहेगा। मयंक अग्रवाल ने हाल ही में न्यूजीलैंड के खिलाफ मुंबई टेस्ट में शतकीय पारी खेली थी।

अय्यर से रहेगी उम्दा प्रदर्शन की उम्मीद

न्यूजीलैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज से टेस्ट डेब्यू करने वाले श्रेयस अय्यर से साउथ अफ्रीका सीरीज में भी दमदार प्रदर्शन की उम्मीद जताई जा रही है। न्यूजीलैंड के खिलाफ अय्यर ने 2 टेस्ट मैचों की 4 पारियों में 50.5 की औसत के साथ कुल 202 रन बनाए थे।

अश्विन छोड़ सकते हैं छाप

इंग्लैंड दौरे पर आर अश्विन को एक भी टेस्ट खेलने का मौका नहीं मिला था। साउथ अफ्रीका में अश्विन ने 3 टेस्ट खेले हैं और 46.14 की औसत के साथ कुल 7 विकेट चटकाए हैं। हाल फिलहाल के समय में उनका प्रदर्शन विदेशी सरजमीं पर अच्छा रहा है। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर उन्होंने 3 मैचों में 12 विकेट अपने नाम किए थे और ऑस्ट्रेलिया में भी अगर वो मेजबान टीम के बल्लेबाजों पर दबाव बनाने में सफल रहते हैं तो भारत को मैच जीता सकते हैं। अनिल कुंबले ने अफ्रीकी मैदानों पर 12 टेस्ट मैचों में कुल 45 विकेट लिए हैं, जो ये दर्शाता है कि इन मैदानों पर भी स्पिन गेंदबाज हावी हो सकते हैं।

तेज गेंदबाजों पर रहेगी नजरें

साल 2018 में जसप्रीत बुमराह ने अपने टेस्ट करियर की शुरूआत दक्षिण अफ्रीका दौरे से ही की थी। बीते दो से तीन सालों में टीम इंडिया की तेज गेंदबाजी में जबरदस्त सुधार देखने को मिला है। कोहली एंड कंपनी को अगर इस बार दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट सीरीज इतिहास रचना है तो पेस अटैक को फिर से दमदार प्रदर्शन करना होगा। बुमराह के अलावा इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, मोहम्मद सिराज और उमेश यादव तेज गेंदबाजी का हिस्सा है।

द्रविड़ की शरण में कोहली की टोली

बतौर हेड कोच राहुल द्रविड़ के टीम इंडिया के साथ ये पहला विदेशी दौरा है। यह दौरा द्रविड़ और पूरी टीम के लिए काफी अहम माना जा रहा है। दरअसल, भारतीय टीम ने अफ्रीकी सरजमीं पर आज तक कोई टेस्ट सीरीज नहीं जीती है। ऐसे में राहुल द्रविड़ के लिए दौरा काफी चुनौतीपूर्ण रहेगा।

द्रविड़ और कोहली का मुकाबला

प्रैक्टिस सेशन के दौरान टीम ने काफी समय तक फुटबॉल और वॉलीबॉल खेला। खेल के दौरान द्रविड़ और कोहली कई बार एक दूसरे से हैंड शेक करते और हंसी मजाक करते नजर आए। इतना ही नहीं, द्रविड़ और विराट की टीम के बीच एक मुकाबला भी हुआ।


Share