Thursday , 19 September 2019
Top Headlines:
Home » Auto » Tesla के गिरते मुनाफे के चलते भारतीय मूल के CFO ने दिया इस्तीफ़ा

Tesla के गिरते मुनाफे के चलते भारतीय मूल के CFO ने दिया इस्तीफ़ा

इलैक्ट्रिक कारें बनाने वाली कार कंपनी टेस्ला के भारतीय मूल के मुख्य वित्तीय अधिकारी दीपक आहूजा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। कंपनी के घटते मुनाफे के चलते मुख्य वित्तीय अधिकारी दीपक आहूजा ने इस्तीफा दिया। कंपनी चौथी तिमाही में 13.9 करोड़ का ही मुनाफा
कमा पाई। जबकि कंपनी ने 2018 के तीसरी तिमाही में 31.1 करोड़ का मुनाफा कमाया था। यानि चौथी तिमाही में करीब 17 करोड़ का घाटा हुआ। बुधवार को कंपनी के संस्थापक और सीईओ एलन मस्क ने
व्यापार विश्लेषकों के साथ हुई एक बैठक में मस्क ने कहा कि आहूजा की सेवानिवृत्ती ‘तात्कालिक नहीं होगी’ और वह ‘कंपनी के वरिष्ठ सलाहकार बने रहेंगे’। मस्क की इस घोषणा के बाद टेस्ला के शेयर
करीब 6 फीसदी गिर गए। कंपनी के 65 वर्षीय मौजूदा वाइस प्रेसिडेंट ज़ैक कर्कहॉर्न आहूजा की जगह लेंगे। आहूजा ने विश्लेषकों
से कहा, “इस बदलाव के लिए यह सही समय नहीं है। यह एक नया अध्याय है, नया साल है। टेस्ला के पास मुनाफे और नकदी प्रवाह के दो शानदार क्वार्टर हैं, यह वास्तव में ठोस आधार पर है।” पिछला
साल कंपनी के कुछ खास नहीं रहा है। एलन मस्क के कर्इ विवादों में आ जाने से कर्इ वरिष्ट अधिकारियों ने नौकरी से इस्तीफा दे दिया था…जिसके बाद कंपनी के शेयर धड़ाम से गिर गए थे। 
उधर, टेस्ला ने मॉडल 3 की कीमत में दोबारा कटौती की है। कंपनी के प्रवक्ता के मुताबिक कॉस्टली कस्टमर रैफेरल प्रोग्राम को समाप्त कर दिया है और कार की कीमत को 1,100 डॉलर कम कर दिया है। टेस्ला ने मॉडल 3 की कीमत में दो बार कटौती की है जिसके बाद कार के सबसे सस्ते वेरिएंट की कंपनी की वेबसाइट के अनुसार 42,900 डॉलर हो गई है। मुख्य कार्यकारी एलन मस्क ने मॉडल 3 के लिए मजबूत मांग को टाल दिया, क्योंकि कंपनी ने अपने फ़्रेमोंट, कैलिफोर्निया कारखाने से यूरोप और एशिया के लिए कार को शिप करना शुरू कर दिया।
लेकिन उन्होंने स्वीकार किया कि व्यापक ग्राहक आधार के लिए वाहन की कीमत कम करने के लिए लागत में कटौती करना सर्वोपरि था।
टेस्ला की मॉडल 3 को तीन वेरिएंट्स में उपलब्ध है। पहला कार का एंट्री लेवल मॉडल है जो सिंगल- मोटर विकल्प के साथ आता है।  इसकी रेन्ज एक चार्ज में 400 किलोमीटर है।  डुअल-मोटर की रेन्ज ज़्यादा है और ऑल-व्हील ड्राइव पर यह कार 500 किमी तक चलती है साथ ही कार महज़ तीन से चार सेकंड में ही शून्य से सौ किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार पकड़ लेती है । कार की टॉप स्पीड 250 किलोमीटर प्रति घंटा है । कार को शानदार और हाईटेक केबिन से लैस किया गया है
मॉडल 3 के केबिन में टेस्ला ने पिछले सभी मॉडलो से अच्छा और एडवांस केबिन दिया है। कार का डैशबोर्ड काफी साफ है । कार का केबिन वैसे तो प्लास्टिक फिनिश में आता है, लेकिन आप चाहें तो इसे
वुड, कार्बन फाइबर कलर थीम में पा सकते हैं।.टेस्ला मॉडल 3 में ट्रैक मोड और स्लिप-स्टार्ट मोड दिया गया है जिससे बर्फ या चिकनी जगह पर इसे आसानी ने स्टार्ट किया जा सकता है। कार के ट्रैक्शन
कंट्रोल को भी इसी हिसाब से ढ़ाला जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*