आतंकी अरेस्ट, कब्जे से 6.5 किलोग्राम आईईडी बरामद

आतंकी अरेस्ट, कब्जे से 6.5 किलोग्राम आईईडी बरामद
Share

श्रीनगर (एजेंसी)। पुलवामा आतंकी हमले की दूसरी बरसी पर सुरक्षा बलों ने एक बड़ी घटना नाकाम करके दहशतगर्दों के नापाक मंसूबों पर पानी फेर दिया है। जम्मू पुलिस ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए बताया कि कैसे पाकिस्तान ने चंडीगढ़ में पढऩे वाले एक युवक को मैसेज भेजा और फिर कहां-कहां आईईडी प्लांट करना है, इसके बारे में बताया। रविवार को सुरक्षाबलों ने जम्मू के बस स्टैंड से 6.5 किलो आईईडी बरामद किया। इस आईईडी को आतंकी हमले के लिए वहां पर रखा गया था।

जम्मू पुलिस के आईजी मुकेश सिंह ने बताया कि हम हाई अलर्ट पर थे क्योंकि हमारे पास इनपुट्स थे कि आतंकी समूह पुलवामा हमले की बरसी पर हमले की योजना बना रहे थे। कल रात हमने सोहेल नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया और उसके कब्जे से 6-6.5 किलोग्राम आईईडी बरामद किया गया। उसने बताया कि वह चंडीगढ़ के नर्सिंग कॉलेज का छात्र है। उसे पाकिस्तान के अल-बदर तंजीम से आईईडी लगाने के निर्देश दिए गए थे।

एक बार फिर पाकिस्तान ही रच रहा था खूनी साजिश

पुलिस अधिकारी मुकेश सिंह ने पाकिस्तान की साजिश का भंडाफोड़ करते हुए कहा कि सोहेल को आईईडी लगाने के लिए तीन से चार जगहों का टारगेट दिया गया था। इसके बाद उसे श्रीनगर की फ्लाइट पकडऩी थी, जहां उसे अल बदल तंजीम का ग्राउंड वर्कर अतहर शकील खान उसे रिसीव करता। उन्होंने बताया कि चंडीगढ़ का रहने वाले काजी वसीम को भी इस मामले की जानकारी थी। पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया है। इसके अलावा, एक आबिद नबी नामक शख्स को भी अरेस्ट किया गया है।

जम्मू पुलिस ने नाकाम की साजिश

आईजी मुकेश सिंह ने आगे बताया कि गिरफ्तार किए गए शख्स को आईईडी लगाने के लिए 3-4 जगह बताई गई थी, जिसमें रघुनाथ मंदिर, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन और लखदाता बाजार शामिल थे। इनमें से किसी एक जगह पर उसको आईईडढी रखना था। इससे काफी बड़ा धमाका हो सकता था जिसे जम्मू पुलिस ने नाकाम कर दिया।

15 छोटे आईईडी और 6 पिस्टल की भी बरामदगी

आईईडी की बरामदगी के साथ ही एक बड़े हादसे को टाल दिया गया है। मुकेश सिंह ने बताया कि बीती रात भी 15 छोटे आईईडी और 6 पिस्टल को सांबा से जब्त किया गया है।

पुलवामा हमले के बाद भारत ने बरती सतर्कता

उरी हमले के बाद भारत की तरफ से पाक को कड़ा जवाब दिया गया था। लेकिन फिर भी पाक की तरफ से पुलवामा जैसा हमला किया गया। जिसके बाद भारत की तरफ से  हमले करने की सोच को बढ़ाया गया। भारत की तरफ से एयर स्ट्राइक की गई। इससे भारत ने विश्व भर में एक नई मिसाल कायम कर दी थी। इससे बताया गया कि अगर पाक की तरफ से इस प्रकार के हमले किए जाएंगे तो इस तरफ से भी कड़ा जवाब दिया जाएगा।


Share