अपने सबसे पसंदीदा विदेशी मैदान पर एक और जीत के साथ इतिहास रचेगी टीम इंडिया

Team India will create history with another victory on their favorite foreign ground
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। टीम इंडिया दूसरा टेस्ट मैच आज से जोहान्सबर्ग के द वांडरर्स स्टेडियम में खेला जाना है। यह मैदान भारत के लिए अब तक काफी भाग्यशाली साबित हुआ है और टीम इंडिया यहां अबतक एक भी टेस्ट नहीं हारी है। भारत के इस मैदान पर इतिहास रचने का मौका है। भारतीय टीम दूसरा टेस्ट जीतते ही दक्षिण अफ्रीका की धरती पर पहली बार कोई टेस्ट सीरीज जीत लेगी।

जोहान्सबर्ग में 29 साल के अजेय है भारत

भारत ने पिछले 29 साल में जोहान्सबर्ग के द वांडरर्स स्टेडियम में 5 टेस्ट मैच खेले हैं। इस मैदान पर टीम इंडिया को कभी भी हार नहीं मिली है। इन 5 टेस्ट मैचों में से 2 मैच भारत ने जीते हैं, जबकि 3 मुकाबले ड्रॉ रहे हैं। साथ ही 15 साल पहले 2006 में इसी मैदान पर भारतीय टीम ने राहुल द्रविड़ की कप्तानी में इतिहास रचा था। ये वही मौका था जब दक्षिण अफ्रीका की सरजमीं पर भारत को पहली टेस्ट जीत मिली थी। मौजूदा समय में टीम इंडिया के हेड कोच राहुल द्रविड़ ने 1997 में पहला शतक यहीं पर लगाया था।

विराट की सेना भी चख चुकी जीत का स्वाद

जोहान्सबर्ग में भारत ने जो 2 टेस्ट जीते हैं, उनमें से एक जीत द्रविड़ की और दूसरी कोहली की कप्तानी में मिली है। कोहली की कप्तानी में भारत ने 2018 में खेले गए टेस्ट मैच को 63 रनों से जीता था। इन दो जीत के अलावा 1992, 1997 और 2013 में भी भारतीय टीम ने यहां टेस्ट मैच ड्रॉ करवाया था।

1992 से अब तक टीम इंडिया 8वीं बार दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर गई है। यहां भारत ने अभी तक कुल 21 टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें से 10 में उसे हार मिली है और 7 ड्रॉ रहे हैं। दक्षिण अफ्रीका की टीम यहां 42 टेस्ट मैच खेल चुकी है, जहां उसे 18 में जीत मिली है जबकि 13 टेस्ट में उसे हार का सामना करना पड़ा है। वहीं, 11 टेस्ट ड्रॉ रहे हैं।


Share