150 भारतीयों को साथ ले गए तालिबानी- पूछताछ के बाद एयरपोर्ट पर छोड़ा

भारत ने अफगानों के लिए आपातकालीन ई-वीजा की घोषणा की
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। काबुल एयरपोर्ट पर 150 भारतीयों की मौजूदा स्थिति को लेकर संशय की स्थिति बन गई। इन सभी भारतीयों को तालिबानी अपने साथ ले गए थे। कुछ ऐसी खबरे आ रही हैं कि तालिबान ने काबुल एयरपोर्ट के पास ही किसी स्थान पर इन सभी भारतीयों से पूछताछ की है। इससे पहले एक मिलिट्री एयरक्राफ्ट 80 अन्य भारतीयों को लेकर तजाकिस्तान गया। सबसे पहले यह खबर अफगानी मीडिया में आई। मीडिया रिपोर्ट में कहा गया कि 150 से ज्यादा लोगों को तालिबान ने अगवा कर लिया है। इनमें से ज्यादातर भारतीय हैं। हालांकि, बाद में इसी मीडिया रिपोर्ट में बताया गया कि तालिबानी प्रवक्ता ने किडनैपिंग की बातों से इनकार भी कर दिया है।

रिपोर्ट में यह भी बताया था कि सभी भारतीय महफूज थे और एयरपोर्ट पर भेजे जाने से पहले उनके पासपोर्ट की जांच की गई थी। इस पूरी घटना पर भारतीय अधिकारियों की तरफ से आधिकारिक तौर से कुछ भी नहीं कहा गया है। हालांकि, सरकार अफगानिस्तान से निकल रहे सभी भारतीयों पर नजर बना कर रख रही है। सुरक्षा के मद्देनजर सरकार, अफगानिस्तान से निकलने वाले सभी भारतीयों का ब्योरा भी रख रही है।

इस घटना को जानने वाले लोगों का कहना है कि करीब 200 लोग अचानक शुक्रवार को काबुल एयरपोर्ट पहुंच गये। इनमें 70 अफगानी नागरिक थे। यह सभी लोग एक ग्रुप में आए थे एक साथ इतने साले लोगों के वहां पहुंचने पर भीड़ जमा हो गई। इसके बाद एयरपोर्ट के बाहर मौजूद तालिबानियों ने इन लोगों को रोक दिया। जिसके बाद ज्यादातर अफगानी भीड़ से निकलकर भाग गये।

इसके बाद तालिबान ने भारतीयों से पूछताछ की और फिर उन्हें एयरपोर्ट से किसी अज्ञात स्थान पर आगे की जांच-पड़ताल के लिए ले गए।  बताया जा रहा है कि इन लोगों से पूछताछ और इनके डॉक्यूमेंट्स की पड़ताल के बाद इस ग्रूप को वापस शनिवार की दोपहर तक काबुल एयरपोर्ट भेज दिया गया। इससे पहले इंडियन मिलिट्री की एक एयरक्राफ्ट ने करीब 80 भारतीयों को तजाकिस्तान की राजधानी दुसांबे पहुंचाया। जानकारी के मुताबिक एक अन्य मिलिट्री एयरक्राफ्ट को दुसांबे एयरपोर्ट पर स्टैंडबाय में रखा गया है। इस एयरक्राफ्ट का इस्तेमाल इंडियन एयर फोर्स ट्रांजिट प्वाइंट के तौर पर कर रही है।


Share