अस्पताल में भर्ती मंकीपॉक्स के संदिग्ध मरीज की मौत, केरल सरकार ने दिए जांच के आदेश

मंकीपॉक्स भी ग्लोबल हेल्थ इमरजेंसी घोषित, डब्लूएचओ ने की घोषणा, भारत समेत 80 देशों में 16 से ज्यादा मरीज
Share

तिरूवनंतपुरम (एजेंसी)। केरल सरकार ने मंकीपॉक्स के संदिग्ध मरीज की मौत के कारणों का पता लगाने के लिए जांच करेगी। यह युवक हाल ही में संयुक्त अरब अमीरात से भारत लौटा था। एक दिन पहले ही कथित रूप से मंकीपॉक्स के कारण उसकी मौत हो गई। केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा कि मरीज  के नमूनों की रिपोर्ट अब तक आई नहीं है। उन्होंने कहा कि मरीज युवा था और उसे कोई और बीमारी या स्वास्थ्य संबंधी कोई अन्य दिक्कत नहीं थी, लिहाज़ स्वास्थ्य विभाग उसकी मौत के कारणों का पता लगा रहा है। मंत्री ने मीडिया से कहा, मंकीपॉक्स का यह खास प्रकार कोविड-19 जैसा उच्च स्तर का संक्रामक नहीं है लेकिन यह फैलता है। तुलनात्मक रूप से, मंकीपॉक्स के इस प्रकार से मृत्यु होने की दर कम है। इसलिए, हम जांच करेंगे कि इस विशेष मामले में 22 वर्षीय व्यक्ति की मौत क्यों हुई क्योंकि उसे कोई अन्य बीमारी या स्वास्थ्य समस्या नहीं थी।

शनिवार सुबह मरीज की हुई मौत : उन्होंने कहा कि चूंकि मंकीपॉक्स का यह प्रकार फैलता है, इसलिए इसे रोकने के लिए सभी आवश्यक उपाय किए गए हैं। मंत्री ने यह भी कहा कि अन्य देशों से बीमारी के विशेष प्रकार के बारे में कोई अध्ययन उपलब्ध नहीं है जहां इस बीमारी का पता चला है और इसलिए केरल इस पर अध्ययन कर रहा है। 22 वर्षीय व्यक्ति की शनिवार सुबह त्रिशूर के एक निजी अस्पताल में कथित तौर पर मंकीपॉक्स के कारण मौत हो गई थी।


Share