सुशांत केस : सुको पहुंची रिया ने कहा – आरोप लगने से पहले ही दोषी हो गई

सुशांत केस : सुको पहुंची रिया ने कहा
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत से जुड़े केस में अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती ने मीडिया ट्रायल का आरोप लगाया है। रिया चक्रवर्ती ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाते हुए कहा है कि मीडिया ने पहले ही उसे सुशांत सिंह राजपूत की मौत का कसूरवार ठहरा दिया गया है।

रिया ने अपनी याचिका में कहा है कि मीडिया में इस मुद्दे को लगातार सनसनीखेज बनाने की वजह से उन्हें गहरी मानसिक पीड़ा पहुंची है और उनकी निजता का उल्लंंघन हुआ है।

‘आरोप लगने से पहले ही दोषी हो गई’

अभिनेत्री रिया ने कहा कि इस मुद्दे को मीडिया में बढ़ा-चढ़ाकर दिखाया गया है। मीडिया इस मामले में गवाहों से जिरह और बहस कर रही है। याचिका में सुप्रीम कोर्ट से कहा गया है कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में कोई आरोप लगने से पहले ही मीडिया ने रिया चक्रवर्ती को दोषी ठहरा दिया है।

रिया ने अपने हलफनामे में सीबीआई जांच का भी विरोध किया है। याचिका में यह भी कहा गया है इस मामले में बिहार राज्य ने मामले को मुंबई ट्रांसफर करने के बजाय पटना ट्रांसफर करके गलत तरीके से काम किया है। सीबीआई को केस ट्रांसफर करने के नियम हैं।

दो और अभिनेताओं ने खुदकुशी की उसकी चर्चा ही नहीं

रिया चक्रवर्ती ने अपने हलफनामे में कहा कि पिछले 30 दिनों में दो अभिनेताओं आशुतोष भाकरे और समीर शर्मा ने भी आत्महत्या की लेकिन मीडिया ने कोई खबर नहीं दिखाई। रिया ने अपने हलफनामे में कहा है कि सुशांत सिंह की दु:खद मौत में जांच को लेकर इसलिए तूल दिया जा रहा है क्योंकि वहां आने वाले दिनों में चुनाव है।

इस मामले में चल रहे मीडिया ट्रायल को बंद करने की मांग को लेकर रिया ने कहा कि 2 जी घोटाले और आरूषि केस में मीडिया ट्रायल में उन्हें दोषी करार दे दिया गया था लेकिन कोर्ट में चले ट्रायल में उन लोगों को दोष मुक्त कर दिया था। सुप्रीम कोर्ट इस विषय पर भी विचार करे।

दिन का उजाला नहीं देख पाएगी सीबीआई और ईडी की जांच

अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती ने कहा कि इस मामले में बिहार पुलिस को जांच का अधिकार क्षेत्र नहीं है। रिया के वकील ने कहा कि हजारों करोड़ की जांच कर रही ईडी और सीबीआई की जांच कभी दिन का उजाला नहीं देख पाएगी। हालांकि रिया का कहना है कि अगर सुप्रीम कोर्ट, सुशांत सिंह राजपूत की मौत की सीबीआई जांच का आदेश देती है तो उसे कोई आपत्ति नहीं होगी।


Share