सुरजेवाला ने कांग्रेस आलाकमान पर कही बड़ी बात, बोले- जींद उपचुनाव लडऩा मेरा दुर्भाग्य था, पार्टी ने मुझे मरने के लिए भेज दिया

सुरजेवाला ने कांग्रेस आलाकमान पर कही बड़ी बात, बोले- जींद उपचुनाव लडऩा मेरा दुर्भाग्य था, पार्टी ने मुझे मरने के लिए भेज दिया
Share

कैथल (एजेंसी)। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव और राजस्थान से राज्यसभा चुनाव जीते रणदीप सुरजेवाला का एक पुराना दर्द यहां उभर आया। रणदीप को जींंद विधानसभा सीट का उपचुनाव लडऩे का आज भी अफसोस है और इसको लेकर उन्होंने एक तरह से कांग्रेस आलाकमान पर भी गंभीर सवाल उठा दिया। उन्होंने कहा कि जींद उपचुनाव लडऩा मेरा दुर्भाग्य था और पार्टी ने मुझे मरने के लिए वहां भेज दिया

सुरजेवाला ने कहा कि विरोधियों ने उनके खिलाफ षड्यंत्र के तहत गलत प्रचार करके लोगों को भ्रमित किया। शहर में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने आए सुरजेवाला ने जींद उपचुनाव में हार पर कहा कि यह मेरा दुर्भाग्य था। पार्टी ने हुकम कर दिया और पार्टी मां की तरह होती है। पार्टी आज कहे सिर चाहिए तो मैं सिर दे दूंगा। मेरा जींद उपचुनाव लडऩे का मन नहीं था। लेकिन, पार्टी ने कहा कि दूसरा चुनाव नहीं लड़ सकता, इसलिए मरने के लिए तू जा और मुझे वह चुनाव लडऩा पड़ा।

उन्होंने कहा कि उसके बाद हरियाणा चुनाव में विरोधियों ने कैथल में दुष्प्रचार शुरू कर दिया और हम पांच-सात सौ वोटों से चुनाव हार गए। जैसे चक्रव्यूह में षड्यंत्र करके अभिमन्यु को मारा गया था, वैसे ही मुझे मारा गया, क्योंकि विरोधियों को लगता था यह हरियाणा का राज ले लेगा।

भावुक होते हुए सुरजेवाला बोले, मैं आज एक वादा करता हूं, मेरी चमड़ी, मेरा शरीर, मेरी हर हड्डी, सिर के बाल से लेकर पैर के नाखून तक कैथल के हैं। जब तक जिंदा हूं, यही रहूंगा। उन्होंने कहा कि दो साल बाद विधानसभा चुनाव होने हैं। तब वह फिर से कैथल से चुनाव लडऩे आएंगे।


Share