‘मिर्जापुर’ के तीसरे सीजन पर रोक लगाने से इनकार सुप्रीम कोर्ट बोला- बेहतर याचिका दायर करें

Supreme Court refuses to ban the third season of 'Mirzapur' - file a better petition
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। सुप्रीम कोर्ट ने गुरूवार को वेब सीरीज ‘मिर्जापुर’ के तीसरे सीजन पर रोक लगाने से इनकार कर दिया। इसके साथ ही कोर्ट ने याचिकाकर्ता से कहा कि वह बेहतर याचिका दायर करें। कोर्ट इस पर भी आश्चर्य जताया कि आखिर किसी वेब सीरीज के लिए ‘प्री-स्क्रीनिंग’ समिति कैसे हो सकती है। न्यायालय ने कहा कि यह हमेशा महसूस किया गया है कि ‘प्री-सेंसरशिप’ अनुमति योग्य नहीं है। इसके साथ ही शीर्ष अदालत ने यह आश्चर्य भी जताया कि सीधे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर रिलीज होने वाली वेब शृंखलाएं, सिनेमा या अन्य कार्यक्रमों के लिए कोई ‘प्री-स्क्रीनिंग’ समिति कैसे हो सकती है। प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति उदय उमेश ललित और न्यायमूर्ति बेला एम त्रिवेदी की पीठ मिर्जापुर निवासी सुजीत कुमार सिंह की ओर से दायर एक याचिका पर सुनवाई कर रही थी। इस याचिका में सीधे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर रिलीज होने वाली वेब शृंखला, सिनेमा या अन्य कार्यक्रमों के लिए ‘प्री-स्क्रीनिंग’ समिति बनाये जाने का अनुरोध किया गया है। पीठ ने कहा, वेब शृंखला के लिए कोई प्री-स्क्रीनिंग समिति कैसे हो सकती है? एक विशेष कानून है। जब तक आप यह नहीं कहते कि ओटीटी (ओवर-द-टॉप) भी इसका (कानून का) एक हिस्सा है… आपको कहना होगा कि मौजूदा कानून ओटीटी पर भी लागू हो। (इसके बाद) कई सवाल उठेंगे, क्योंकि प्रसारण दूसरे देशों से होता है। पीठ ने याचिकाकर्ता को याचिका वापस लेने का निर्देश देते हुए कहा, ओटीटी उपग्रह प्रसारण अन्य देशों से होता है, भले ही दर्शक यहां हों। प्रदर्शन के बाद निवारण तंत्र अलग है। आपकी याचिका अधिक विस्तृत होनी चाहिए। बेहतर (याचिका) दायर करें। शीर्ष अदालत ने लोकप्रिय वेब सीरीज ‘मिर्जापुर’ के तीसरे सीजन पर रोक लगाने से भी इनकार कर दिया।


Share