देश की सबसे घातक मिसाइल का बंगाल की खाड़ी में सफल परीक्षण

देश की सबसे घातक मिसाइल का बंगाल की खाड़ी में सफल परीक्षण
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। भारत ने अपनी सबसे खतरनाक ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का मंगलवार को बंगाल की खाड़ी में सफल परीक्षण किया है। इस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल को आईएनएस रणविजय से लॉन्च किया गया है। इसके पहले हुए तीन मिसाइल परीक्षण जमीन से जमीन पर मार करने वाली ब्रह्मोस मिसाइल के थे।

स्पुतनिक वेबसाइट ने खबर दी है कि ये मिसाइल नौसैनिक जहाज आईएनएस रणविजय से दागी गई और अंडमान-निकोबार द्वीप एक अन्य वीरान द्वीप पर लगाए गए टारगेट को ध्वस्त कर दिया। चीन से करीब 8-9 महीने से सीमा विवाद और तनातनी के बीच पिछले कुछ दिनों में भारत ने कई मिसाइलों, टॉरपीडो, एंटी-मिसाइल सिस्टम आदि का सफल परीक्षण किया है। मंगलवार को हुए परीक्षण का मकसद था मिसाइल की रेंज को बढ़ाना। जमीन से जमीन पर मार करने वाली इस मिसाइल की रेंज को बढ़ाकर 400 किलोमीटर किया गया है।

ब्रह्मोस मिसाइल 28 फीट लंबी है। यह 3000 किलोग्राम वजन की है। इसमें 200 किलोग्राम के पारंपरिक और परमाणु हथियार लगाए जा सकते हैं। यह 300 किलोमीटर से 800 किलोमीटर तक की दूरी पर बैठे दुश्मन पर अचूक निशाना लगाती है। इसकी गति इसे सबसे ज्यादा घातक बनाती है। यह 4300 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से हमला करती है। यानी 1।20 किलोमीटर प्रति सेकेंड। इसके छूटने के बाद दुश्मन को बचने का या हमला करने का मौका नहीं मिलता। बता दें कि हाल ही में एक खबर आई थी, जिसमें कहा गया था कि वियतनाम भारत की सबसे खतरनाक मिसाइल खरीदना चाहता है। इसके लिए अब तक बाधा थी रूस की सहमति, क्योंकि इस मिसाइल को रूस और भारत ने मिलकर बनाया है। लेकिन अब रूस ने इस मिसाइल के निर्यात की अनुमति दे दी है। अब भारत की ये शानदार मिसाइल वियतनाम में तैनात हो सकेगी। इससे दक्षिण चीन सागर में चीन को थोड़़ा संभलकर रहना होगा।


Share