31 तक कोरोना टीकाकरण का लक्ष्य पूरा करने के सख्त निर्देश, …नहीं तो सीएमएचओ जिम्मेदार | 31 जनवरी के बाद नो वैक्सीन नो एंट्री!

The cost of 'Corbevax vaccine' has been reduced to Rs.250.
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राज्य सरकार ने सभी जिलों के चीफ मेडिकल एंड हेल्थ ऑफिसर (सीएमएचओ) को 31 जनवरी तक वैक्सीनेशन का काम पूरा करने का सख्त आदेश निकाला है। निदेशक आरसीएच डॉ. केएल मीना ने आदेश में कहा है कि मुख्यमंत्री और चिकित्सा मंत्री के आदेशों के अनुसार कोविड-19 वैक्सीन की पहली डोज और दूसरी डोज 31 जनवरी 2022 तक 100 फीसदी लगाई जानी है। इसलिए उन्होंने सभी सीएमएचओ को साफ निर्देश दिए हैं कि तय तारीख तक टारगेट पूरा करें। वरना सीएमएचओ के खिलाफ होने वाली कार्यवाही के लिए वो खुद जिम्मेदार होंगे।

सीएम ने 31 जनवरी दी 100 फीसदी डबल डोज वैक्सीनेशन डेडलाइन

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 100 फीसदी दोनों वैक्सीनेशन डोज के लिए पिछले दिनों वीडियो कान्फ्रेंस में सख्त हिदायत दी। जिसके बाद 3 जनवरी से वैक्सीनेशन ड्राइव भी तेज की गई। लेकिन अब केवल 13 दिन बचे हैं। गहलोत ने 31 जनवरी के बाद नो वैक्सीन, नो एंट्री की बात कही थी। लेकिन सूत्र बताते हैं कि इसमें कुछ बदलाव करना पड़ सकता है। सरकार चाहती है कि वैक्सीन की कम से कम पहली डोज सभी के लग जाए। ताकि दूसरी डोज भी तय टाइम पर लगाई जा सके। इससे कोविड से होने वाली मौतों की संख्या घटाने और महामारी से निपटने में बड़ी मदद मिलेगी। हालांकि वैक्सीनेशन की दोनों डोज के बीच के समय के अंतर को कम नहीं किया गया है। दूसरी डोज वैक्सीन के हिसाब से तय समय पर ही लगेगी। प्रदेश में 31 जनवरी के बाद सरकार हर जगह नो वैक्सीन, नो एंट्री का नियम लागू करेगी।


Share