चीन के लिए जासूसी करने वाला पत्रकार गिरफ्तार

चीन के लिए जासूसी करने वाला पत्रकार गिरफ्तार
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। एक सेंट्रल इंटेलिजेंस एजेंसी के इनपुट पर फ्रीलांस पत्रकार राजीव शर्मा को 14 तारीख को गिरफ्तार किया गया। शुरूआती जांच में ये पता चला कि राजीव शर्मा चीनी इंटेलिजेंस अफसरों के सम्पर्क में हैं और यहां से संवेदनशील सूचना भेज रहे थे, इनकी पूछताछ पर एक चीनी महिला किंग शी और उसके सहयोगी नेपाली नागरिक राज बोहरा को भी गिरफ्तर किया गया है। राजीव शर्मा 40 साल से पत्रकारिता कर रहे हैं। 2010 के बाद से वो फ्रीलांस जर्नलिज्म कर रहे थे, उस समय राजीव शर्मा चाइनीज एजेंसी ग्लोबल टाइम्स के आर्टिकल लिखते थे।

2016 में राजीव का संपर्क एक चाइनीज अफसर माइकल से लिंक्डइन के जरिए हुआ। जिसने इनको चाइना में आमंत्रित किया, जहां पर शर्मा को भारत की रक्षा, भारत चाइना सीमा से जुड़ी सूचना देने के लिए हर सूचना के लिए 1000 डॉलर प्रलोभन दिया गया। राजीव ने माइकल को 2016 से 2018 तक बहुत सी सूचना पहुंचाई। 2019 में इनका संपर्क दूसरे चीनी अफसर जॉर्ज से हुआ। इस बीच इनकी मीटिंग अलग-अलग देशों मालदीव, थाईलैंड, लाओस, काठमांडू में होती रही। जहां अलग-अलग टास्किंग की गई। 2019 के बाद जॉर्ज के संपर्क में रहे और सूचना भेजते रहे |

एक साल में मिले 40-50 लाख

चीनी महिला और नेपाल के नागरिक ने यहां एक शेल कम्पनी बना रखी है, महिपालपुर में एमजेड मॉल और एमजेड फार्मास्युटिकल के नाम से जिसमें यहां से चाइना को दवाएं एक्सपोर्ट करते रहे हैं, उसके एवज में जो पैसे आते हैं वो पैसे इस तरह के एजेंट को दिए जाते हैं, बताया जा रहा है कि एक साल में राजीव शर्मा को 40-45 लाख रूपये आए। फिलहाल पुलिस शर्मा से पूछताछ कर रही है। शर्मा के पास से लैपटॉप, 10-12 मोबाइल, एटीएम बरामद हुए हैं।

 


Share