उत्तर : पहाड़ों में बर्फबारी : मैदान ठिठुरे बदरीनाथ में 5 तो केदारनाथ में 8 इंच बर्फ जमी

Share

देहरादून (एजेंसी) | उत्तराखंड के उच्च हिमालयी क्षेत्रों में बर्फबारी होने से तापमान में गिरावट आ गई है। वहीं, ठंड में भी इजाफा हो गया है। केदारनाथ, बदरीनाथ, गंगोत्री- यमुनोत्री धाम में बर्फ की सफेद चादर बिछ गई है। मौसम विभाग के अनुसार छह दिसंबर तक प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में बारिश व बर्फबारी होगी। शनिवार को उत्तरकाशी, चमोली, पिथौरागढ़, बागेश्वर जिलों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। अन्य क्षेत्रों में मौसम शुष्क रहेगा। पांच व छह दिसंबर को भी प्रदेश में इसी तरह का मौसम रहेगा।

केदारनाथ में रूक-रूककर हल्की बर्फबारी होने से लगभग आठ इंच बर्फ जम चुकी है। ऊंचाई वाले क्षेत्रों में जमकर बर्फबारी और निचले क्षेत्रों में बारिश होने से बदरीनाथ धाम में बर्फ की सफेद चादर बिछ गई है। बदरीनाथ में पांच इंच और हेमकुंड साहिब में करीब आठ इंच ताजी बर्फ जमी है। जिससे ठंड में इजाफा हो गया है।

हिमाचल : भारी बर्फबारी का अलर्ट, 44 सड़कों पर आवाजाही बंद

हिमाचल प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता से मौसम में आए बदलाव से रोहतांग समेत ऊंची चोटियां बर्फ से लकदक हो गई हैं। राजधानी शिमला सहित प्रदेश के कई क्षेत्रों में शुक्रवार को बारिश हुई। शुक्रवार को दो नेशनल हाईवे सहित 44 सड़कों पर वाहनों की आवाजाही बंद रही। 87 बिजली ट्रांसफार्मर भी ठप हो गए हैं। अधिकतम तापमान में सामान्य से पांच डिग्री की कमी दर्ज हुई है। प्रदेश के अधिकांश क्षेत्र कड़ाके की ठंड की चपेट में आ गए हैं। शनिवार को बारिश-बर्फबारी के आसार हैं। रविवार को भारी बारिश और बर्फबारी का येलो अलर्ट जारी किया गया है। सात दिसंबर तक मौसम खराब बना रहने का पूर्वानुमान है। नेशनल हाईवे तीन दारचा से सरचू और नेशनल हाईवे 505 ग्रांफू से लोसर तक वर्ष 2022 की गर्मियों तक बंद हो गए हैं। इसके अलावा लाहौल स्पीति जिले में 42 और कुल्लू व चंबा में एक-एक सड़क बंद हुई हैं। लाहौल-स्पीति जिले में 65, किन्नौर में 21 और कुल्लू में एक बिजली ट्रांसफार्मर ठप हो गया है।


Share